कुलपति ने किया निरीक्षण:हड़प्पाकालीन इतिहास को जानने में मददगार होगी केंद्रीय विवि की खोज

महेंद्रगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कुलपति प्रो. टंकेश्वर ने किया तिगड़ाना पुरातत्त्व स्थल का दौरा

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि), महेंद्रगढ़ के इतिहास एवं पुरातत्त्व विभाग द्वारा तिगड़ाना स्थित पुरातत्त्व स्थल पर जारी खोज कार्य का विश्वविद्यालय कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने दौरा किया। विभाग के प्रभारी डॉ. नरेंद्र परमार ने नेतृत्व में जारी इस खोज कार्य के संबंध में कुलपति ने कहा कि अवश्य ही इसके माध्यम से भारतीय पुरातन संस्कृति के अंतर्गत विकसित नगरीय व्यवस्था व उससे जुड़े तथ्यों को जानने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि अभी तक इस शोध कार्य के माध्यम से ज्ञात हुआ है कि हड़प्पा काल में तांबे के औजार व आभूषण प्रयोग में लाए जाते थे, तिगड़ाना में हड़प्पा कालीन फियांस की औद्योगिक इकाई उपलब्ध थी। साथ ही इस शोध कार्य में यह भी ज्ञात हुआ है कि भारत में यूरोपियन देशों से पूर्व उच्च स्तरीय तकनीक का विकास हुआ था।

तिगड़ाना पुरातात्विक उत्खनन के निदेशक डॉ. नरेंद्र परमार ने बताया कि यह शोध कार्य इस क्षेत्र में 5000 साल पुराने औद्योगिक व व्यापारिक पहलुओं को समाने ला रहा है। यहां के उत्खनन से धातु, अर्धकीमती पत्थर, नगर योजना आदि की उच्च स्तरीय तकनीक के प्रमाण मिले हैं।

उन्होंने कहा कि अवश्य ही इस कार्य के अगले चरण में प्राचीन भारत के तकनीकी पक्षों का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्य में विश्वविद्यालय कुलपति का निर्देशन व मार्गदर्शन हम सभी में ऊर्जा का संचार कर रहा है और उनकी अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास करेंगे।

खबरें और भी हैं...