जागरुकता कार्यक्रम:रैली के माध्यम से बताई पोषण की अहमियत, हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पोषण माह का आयोजन

महेंद्रगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खान-पान के मोर्चे पर पोषण के महत्व को देखते हुए हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पोषण माह मनाया जा हरा है। विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ इंटरडिसिप्लिनरी एंड एप्लाइड साइंसेज के तहत पोषण जीव विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने पोषण जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने स्वास्थ्य के प्रति विशेष सावधानी बरतने और पोषण के प्रति जागरूक रहने की सीख दी।

इस मौके पर उपस्थित विद्यार्थियों, शोधार्थियों व शिक्षकों को पोषण जागरूकता के लिए कुछ महत्वपूर्ण नारे भी सुझाए जिनमें खाने को दवा बनने दो, नहीं तो दवा ही भोजन होगी, कभी पेट को पूरा मत भरने दो आदि प्रमुख थे। कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने कहा कि आज के समय में बेहद जरूरी है कि हम खान-पान के मामले में विशेष एहतियात बरतें और स्वाद से अधिक महत्व पोषण को दें।

पोषण जीव विज्ञान विभाग की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में उपस्थित स्कूल ऑफ इंटरडिसिप्लिनरी एंड एप्लाइड साइंसेज की अधिष्ठाता प्रो. नीलम सांगवान ने बताया कि आयोजन के अंतर्गत 28 से 30 सितंबर तक विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इनमें पोषण के महत्व पर केंद्रित पोस्टर मेकिंग, निबंध लेखन, स्लोगन राइटिंग, डिबेट आदि के साथ-साथ जागरुकता रैली प्रमुख है।

इसी क्रम में कोविड के बाद के रोगियों के लिए आहार प्रबंधन विषय पर केंद्रित एक विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन भी किया जा रहा है। विश्वविद्यालय में निकाली गई जागरुकता रैली के अवसर पर विभाग के सभी शिक्षक डॉ. अश्विनी कुमार, डॉ. सविता बुधवार, डॉ. तेजपाल ढेवा एवं डॉ. अनीता कुमारी सहित अर्थशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. रंजन अनेजा भी विद्यार्थियों व शोधार्थियों के साथ उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...