विरोध प्रदर्शन:ग्रामीण रूटों पर रोडवेज बस की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन

महेंद्रगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रामीण रूटों की छात्राओं ने कोरोना काल से बंद रोडवेज की मिनी बस सेवा को फिर से शुरु करवाने की मांगों का लिखा एक ज्ञापन मंगलवार को डीसी अजय कुमार को सौंपा। छात्रा पिंकी, रेखा, महिमा, ममता, सुनीता, उषा, पिंकी, प्रियंका, रचना, हिमांशी, संतोष आदि ने बताया कि ग्रामीण रुटों पर विद्यार्थियों के लिए यातायात के साधनों का काफी अभाव है। ऐसे में उन्हें काफी परेशानियों का सामना करते हुए शहर के स्कूल, कॉलेज व केन्द्रीय विवि में शिक्षा ग्रहण के लिए आना पड़ता है। लेकिन उनके रूट पर यातायात के साधन नहीं है। उन्होंने कहा कि उनकी सुविधा के लिए सुबह 7.30 बजे कुंड व अटेली से वाया रातां, खैराना, खैरानी, बेवल, झींगावन, मुडायन, सुरजनवास, खेड़ा, मेघनवास चौक, डुलाना, होते हुए महेंद्रगढ़ तक एक मिनी बस सेवा शुरू की जाए।

अड्‌डा इंचार्ज का तबादला रुकवाने की मांग
महेंद्रगढ़ के बस अड्‌डा इंचार्ज वेदप्रकाश का पिछले दिनों रोडवेज विभाग ने महेंद्रगढ़ से नारनौल तबादला कर दिया। वेदप्रकाश को वापस नारनौल से महेंद्रगढ़ तैनाम करने की मांग को लेकर मंगलवार को सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने रोडवेज जीएम नवीन शर्मा को ज्ञापन सौंपा। सामाजिक कार्यकर्ता रामनिवास पाटोदा ने बताया कि वेदप्रकाश का तबादला होने से महेंद्रगढ़ बस स्टैंड के हालात फिर से खराब होने लगे हैं। चार महीने के कार्यकाल में महेंद्रगढ़ बस स्टैंड को नया लुक मिला था और महेंद्रगढ़ क्षेत्रवासियों को भी महेंद्रगढ़ बस स्टैंड पर काफी सुविधा मिली थी। उनके कार्यकाल में नया पार्क, यात्रियों के लिए आरओ का पानी, रंग-पेंट, शौचायल, डिवाइडर, पार्किंग सुविधा, मेनगेट के अलावा जो 26 सालों से जो कार्य पेंडिंग थे उन कार्य को अड्‌डा इंचार्ज वेदप्रकाश ने चार महीने के दौरान हीं करवा दिया। अब यात्री मान रहे हैं कि वेदप्रकाश के जाने के बाद महेंद्रगढ़ बस स्टैंड पर होने वाले विकास कार्यों का पहिया थम गया है।

खबरें और भी हैं...