पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली पर उठ रहे सवाल:बिना सैंपल लिए आया आरटीपीसीआर कोरोना जांच के सैंपल कलेक्शन का मैसेज

गोदबलाहा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गांव खटोटी खुर्द के डॉ. विक्रम सिंह के मोबाइल पर उसकी पत्नी कविता का आरटीपीसीआर कोरोना जांच के लिए सैंपल कलेक्शन का मैसेज आया है। मैसेज में 30 जून 2021 को उनका सैंपल लेने की बात कही है। जबकि 30 जून को कविता का कोई सैंपल नहीं लिया गया। इस मैसेज को लेकर परिजन परेशान हैं, वहीं दूसरी ओर हरियाणा सरकार की साइट से आए इस मैसेज से स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली पर भी अनेक सवाल उठ रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि गांव खटोटी खुर्द निवासी डॉ. विक्रम सिंह के मोबाइल पर हरियाणा सरकार की एक साइट से मैसेज आया। मैसेज में 30 जून की शाम 7 बजकर 38 मिनट पर कविता का सैंपल लेने की बात कही। मैसेज में कहा गया कि आपका आरटीपीसीआर जांच के लिए सेंपल लिया गया है। मैसेज मे लिखा गया है कि आपका सैंपल जांच के लिए एसएचकेएम जीएमसी अस्पताल मेवात में भेज दिया है। आपकी जब तक रिपोर्ट नहीं आती आप आइसोलेशन में रहिए।

मैसेज के आने से परिजन हैरान हैं। विक्रम सिंह की पत्नी कविता ने बताया कि मई के प्रथम सप्ताह में सरकारी अस्पताल में उनका सेंपल लिया गया था जिसमें वह पॉजिटिव आई थी। रिकवरी के बाद 17 मई को वह स्वस्थ हो गई व उनकी रिपोर्ट भी निगेटिव आई थी। 30 जून को उसने कहीं किसी तरह का कोई सैंपल नहीं दिया। जबकि प्रदेश की सरकारी साइट से आए मैसेज में सेंपल 30 जून को लेने की बात कही गई जो पूरी तरह गलत है।

उनके पास आया मैसेज पूरी तरह फेक है। फेक मैसेज आने के पीछे स्वास्थ्य विभाग की कार्रवाई पर अंदेशा हो रहा है। गलत मैसेज आने का कारण लिपिकीय गलती है या किसी तरह की धांधली यह तो जांच का विषय है। इस बारे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से जब बातचीत की गई तो वे कुछ भी नहीं बता पाए। खटोटी खुर्द निवासी डॉ.विक्रम सिंह ने स्वास्थ्य विभाग से इसकी जांच करने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...