ज्ञापन सौंपा:सहायक प्रोफेसर की नियुक्ति में पीएचडी जरूरी, छूट का मिले लाभ

महेंद्रगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय शैक्षिक संघ ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा जारी अधिसूचना के तारतम्य में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार से मिलकर ज्ञापन सौंपा। यह ज्ञापन विगत दिनों शिक्षा मंत्री द्वारा विभिन्न समाचार पत्रों में दिए गए वक्तव्य से संबंधित है। जिसमें विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसर के पदों पर नियुक्ति हेतु पीएचडी की अनिवार्यता से छूट देते हुए इसकी अवधि को 1 वर्ष तक के लिए विस्तारित कर दिया गया है।

जाहिर है कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में शिक्षकों और कर्मचारियों की नियुक्ति हेतु मानकों के रख-रखाव संबंधी) अधिनियम, 2018 के अनुसार विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसर के पदों पर सीधी भर्ती के लिए 1 जुलाई, 2021 से पीएचडी उपाधि अनिवार्य कर दी गई थी। जिसे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने शिक्षा मंत्रालय के निर्देश के आलोक में 1 जुलाई, 2022 तक विस्तारित करने संबंधी अधिसूचना को जारी कर दिया है।

अब इस अवधि विस्तार का लाभ गैर-पीएचडी धारकों को भी प्राप्त हो सकेगा। इस संबंध में अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने देश के शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को अवगत कराया था कि कोविड-19 की समस्याओं के चलते अनेक शोधार्थियों के शोध में बाधा आयी है, जिस कारणवश उनका शोध कार्य भी विलंबित हुआ है और उपाधि भी प्राप्त होने में देरी हुई है। इस विकट संकट को देखते हुए संघ ने सभी शोधार्थियों और आवेदकों के हितों को ध्यान में रखते हुए शिक्षा मंत्रालय से गुहार लगाई थी।

जिसे स्वीकार करते हुए मंत्री ने इस अवधि को 1 वर्ष के लिए बढ़ाने की घोषणा की थी और अति शीघ्र ही इसकी अधिसूचना भी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा जारी कर दी गई। हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय शैक्षिक संघ शिक्षा मंत्रालय के प्रति इस त्वरित कार्रवाई के लिए धन्यवाद ज्ञापित करता है। इस क्रम में वीरवार को शैक्षिक संघ की हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय इकाई ने कुलपति को ज्ञापन दिया कि वर्तमान में विश्वविद्यालय द्वारा विज्ञापित पदों में भी इस छूट को शामिल किया जाए, जिससे कि गैर-पीएचडी आवेदकों को यह लाभ मिल सके।

इस संबंध में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की अधिसूचना को विश्वविद्यालय द्वारा लागू किए जाने बाबत आश्वस्त किया। हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने कुलपति के सकारात्मक प्रयास के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

खबरें और भी हैं...