शहर की करीब करीब सभी सड़कें टूटी:10 माह पहले शहर की 41 सड़काें के निर्माण के लिए हुए थे टेंडर, आज तक 4 सड़काें का ही हो पाया निर्माण

महेंद्रगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर की करीब करीब सभी सड़कें टूटी हुई है। ना ही ताे नपा प्रशासन सुध ले रहा है और ना ही जिला प्रशासन। कहने काे शहर की 41 सड़कों के निर्माण के टेंडर करीब 10 माह पहले टेंडर हुए थे। बीते 10 माह में मात्र तीन, चार सड़कों के निर्माण के अलावा अन्य पर भी काम भी शुरू नहीं हाे पाया है।
इसे शहरवासियों का दुर्भाग्य कहें या फिर जिला व नपा प्रशासन का नकारा पन। कारण चाहे जाे भी लेकिन इतना जरूर है कि शहरवासी बीते 10 माह से सड़कों के निर्माण की बांट जाेह रहे हैं। पहले नपा पार्षदों की आपसी विचारधारा नहीं मिलने के कारण शहर के विकास पर विराम लगा रहा। पालिका भंग हाेने के बाद लाेगाें काे कुछ अास जगी थी, लेकिन वाे भी अब पूरी हाेती नजर नहीं आ रही। ऐसे में अब लाेगाें में भारी राेष है।
फरवरी में हुए थे 41 मार्गों पर निर्माण के लिए टेंडर
बीते पांच साल से शहर में विकास कार्य नहीं हुए। इससे शहर के सभी प्रमुख राेड व गलियों के मार्ग जर्जर हालात में हैं। मार्गों पर दाे तीन फीट के गड्ढे आम बाद हैं। जाे दुर्घटना के ताे कारण बन रही रहे हैं अपितु इनके कारण लाेगाें का पैदल चलना भी दूभर हाे रहा है। लाेगाें के काफी राेष के बाद फरवरी 2021 में शहर की मुख्य सड़कों व अन्य गलियों के लिए टेंडर हुए थे। 41 मार्गों पर सडक निर्माण के लिए नपा प्रशासन की तरफ से करीब सात करोड़ रुपए खर्च हाेने थे। बावजूद अब 10 माह बाद भी इन 41 मार्गों में से तीन चार सड़कों का ही निर्माण हाे सका है। एसडीएम िदनेश कुमार ने बताया कि शहर में सडक निर्माण के लिए जाे टेंडर हुए थे, उन पर जल्द से जल्द निर्माण करवाने का प्रयास करवाया जा रहा है। जाे ठेकेदार काम शुरू नहीं कर रहे हैं, उनकाे नाेटिस भेजे जाएंगे। सभी काे जल्द से जल्द काम पूरा करने के लिए कहा जाएगा।

टाइलाें के राेड के हुए थे टेंडर, लाेग सीसी की चाहते हैं सड़क
नपा प्रशासन की तरफ से जिन 41 मार्गों पर सड़क निर्माण के टेंडर किए गए हैं, उन पर टाइलों की सडक का निर्माण हाेगा। जबकि लाेग सभी सड़कों का निर्माण सीसी से चाहते हैं। इसका कारण यह है कि एक दाे मार्ग जाे टाइलों के बने हैं, वाे ठीक नहीं बनें। टाइलें या ताे खराब लगी है या फिर उन बैलेंस तरीके से लगाई गई है। जिससे राेड पर वाहन ठीक नहीं चल पा रहे हैं। शहर के लाेगाें ने जिला प्रशासन से मांग की है कि सभी मार्गों पर टाइलों की जगह सीसी से सडक निर्माण करवाया जाए।
इन सड़कों के लिए हुए थे टेंडर
वार्ड नंबर 1 में एसडीएम रेजिडेंस से अनाज मंडी 35 लाख 86 हजार, वार्ड नंबर 14 में सतनाली चौक से मुसद्दीलाल धर्मशाला 49 लाख 35 हजार, वार्ड नंबर 3 में बीडीपीओ ऑफिस से ओल्ड तहसील कार्यालय 43 लाख 31 हजार, वार्ड नंबर दाे में माजरा फाटक से अनाज मंडी 42 लाख 16 हजार, वार्ड नंबर 14 में बालाजी चौक से सीएसडी कैंटीन 32 लाख 32 हजार, कोटक महिंद्रा बैंक से रेलवे स्टेशन 16 लाख 31 हजार, वार्ड नंबर पांच बालाजी चौक से विकट वाली मंदिर 29 लाख 15 हजार, वार्ड नंबर आठ में पंचमुखी हनुमान मंदिर से धौलपुर आश्रम 45 लाख 61 हजार, वार्ड नंबर 9 नेम्मी से सैनी सभा तक 10 लाख 6 हजार, वार्ड नंबर चार से आशु चक्की से जवाहर नगर टेलीफोन एक्सचेंज 18 लाख 97 हजार, टेलीफोन एक्सचेंज से साईं स्कूल 32 लाख 39 हजार, वार्ड नंबर 14 में अग्रसेन शॉपिंग कांप्लेक्स 33 लाख 5 हजार, वार्ड नंबर तीन मसानी चौक से गर्ल्स कॉलेज 42 लाख 87 हजार, वार्ड नंबर सात में बच्चन सिंह से शिव मंदिर 13 लाख 85 हजार, वार्ड नंबर नाै में हाइप जिम से रामानंद सैनी तक 15 लाख 75 हजार, परशुराम चौक से भगत सिंह पूर्व नपा चेयरमैन 38 लाख 39 हजार, बूस्टिंग स्टेशन से नारनौल रोड तक 16 लाख 24 हजार, वार्ड नंबर 1 में रणवीर एडवोकेट से राज सिंह इंदौरा छाजू पुरम कॉलोनी में 35 लाख 91 हजार, वार्ड नंबर 8 में दयाराम सैनी बुधराम कॉलोनी में 75 लाख 8 हजार, राजेश्वर प्रिंसिपल वार्ड नंबर 15 में 39 लाख 8 हजार, वार्ड नंबर 8 में पवन रमेश सैनी बुध राम कॉलोनी 7लाख 8 हजार, वार्ड नंबर 8 में धौलपाेश गौशाला से पीएचईडी स्टोर तक 15 लाख 68 हजार वार्ड, नंबर 5 में दर्जियान गली 14 लाख सात हजार, विनोद पेट्रोल पंप से निंबाड़ा वाले लाला तक गली में रतिराम मास्टर कॉलोनी में 42 लाख 95 हजार, डाइट से मोदा आश्रम वार्ड नंबर 4 में 26 लाख 55 हजार आदि समेत कुल 41 सड़कों के टेंडर हुए थे।

खबरें और भी हैं...