जिला मुख्यालय मुद्दा:धरना जारी, वकील बाेले- मांग पूरी नहीं हाेने तक चलेगा धरना

महेंद्रगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला मुख्यालय की मांग काे लेकर लघु सचिवालय में धरने पर बैठे वकील। - Dainik Bhaskar
जिला मुख्यालय की मांग काे लेकर लघु सचिवालय में धरने पर बैठे वकील।
  • आंदाेलन समिति अध्यक्ष बाेले- आजादी के बाद से महेंद्रगढ़ जिला
  • महेंद्रगढ़ के लाेगाें काे आज तक नहीं मिला हक

महेंद्रगढ़ में जिला मुख्यालय स्थापित करवाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन 142वें दिन भी जारी रहा। साेमवार काे जिला मुख्यालय आंदाेलन समिति के अध्यक्ष किरोड़ी लाल यादव एडवोकेट ने कहा महेंद्रगढ़ में जिला मुख्यालय स्थापित होना क्षेत्र का हक है। हम अपना हक लेकर रहेंगे। महेंद्रगढ़ को आजादी के समय से ही जिले का दर्जा प्राप्त है। उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार ने महेंद्रगढ़ जिले के नाम के साथ छेड़ छाड़ की कोशिश नहीं की, लेकिन वर्तमान सरकार ने नाम बदलने की कोशिश की।

जनता के भारी विरोध के कारण सरकार को पीछे हटना पड़ा। दूसरी ओर जिला मुख्यालय स्थापित करने के बारे में किसी भी सरकार ने प्रयास नहीं किया। पूर्व प्रधान बंशी लाल यादव ने कहा कि महेंद्रगढ़ में जिला मुख्यालय स्थापित करवाने को लेकर कई बार आंदोलन किए गए। बार एसोसिएशन ने भी साल 2019 में 32 दिन तक धरना कर जिला मुख्यालय स्थापित करवाने की मांग की।

विस चुनाव के कारण वकीलों ने आंदोलन स्थगित कर दिया था, लेकिन नई सरकार गठन के बाद भी जब सरकार ने जिला मुख्यालय की मांग पर पहल नहीं की तो बार एसोसिएशन ने नवंबर 2020 से दोबारा जिला मुख्यालय की मांग को लेकर आंदोलन शुरू किया। बावजूद सरकार ने जनता की भावनाओं की कदर नहीं की। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालय का आंदोलन अब समाप्त होने का नहीं है, बल्कि यह आंदोलन कभी समाप्त नहीं होगा। इस दौरान अधिवक्ता रणजीत सिंह, अरुण कुमार लूनीवाल, गौरी शंकर यादव, राजा यादव, राजेश, राजेश शर्मा, गोपाल शर्मा, बाबूलाल राव, दयाराम, रविन्द्र उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...