पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फैसले पर सवाल:महेंद्रगढ़ ट्रेनिंग स्कूल के ट्रेनरों को पेपर के लिए बुलाया नारनौल

महेंद्रगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महेंद्रगढ़ बस स्टैंड पर लगा ट्रेनिंग स्कूल का शीलापट। - Dainik Bhaskar
महेंद्रगढ़ बस स्टैंड पर लगा ट्रेनिंग स्कूल का शीलापट।
  • वर्ष 2006 से महेंद्रगढ़ में चल रहा रोडवेज का ट्रेनिंग स्कूल, दूर सेंटर बनाने से प्रशिक्षुओं में गुस्सा

महेंद्रगढ़ के एक-एक कर सभी कार्यालय जिला मुख्यालय नारनौल चले गए, परंतु अभी भी बचे हुए कार्यालयों को भी नारनौल ले जाने की चेष्टा हो रही है। पहले तो नगर के बस स्टैंड स्थित टिकट भंडार को उठाकर ले जाया गया, अब ट्रेनिंग स्कूल को भी यहां से ले जाने की कोशिश हो रही है।

इसी कड़ी में पहला कार्य इस बार महेंद्रगढ़ में ट्रेनिंग ले रहे युवाओं को संबंधित अधिकारी ने नारनौल आकर परीक्षा देने का फरमान सुना दिया है। ऐसे में एक अप्रैल को ट्रेनिंग ले रहे 140 युवाओं को नारनौल जाकर परीक्षा देनी होगी। जबकि पूर्व में पांच सप्ताह की ट्रेनिंग के बाद परीक्षा का आयोजन भी महेंद्रगढ़ में ही होता रहा है। पहले जिला स्तर के अधिकांश कार्यालय महेद्रगढ़ स्थित थे।

जो एक-एक कर नारनौल चले गए। बीते वर्ष पहले बस स्टैंड स्थित टिकट भंडार को भी यहां से नारनौल शिफ्ट करने का प्लान बना, परंतु सामाजिक कार्यकर्ता रामनिवास पाटोदा सहित अन्य लोगों ने जब इस पर विरोध जताया तो भंडार गृह बन गया। अब शायद रोडवेज विभाग के उच्च अधिकारियों की ट्रेनिंग स्कूल पर निगाह है। जो वर्ष 2006 से महेंद्रगढ़ में चल रहा है।

सामाजिक कार्यकर्ताओं ने संदेश जताया है कि इस बार ट्रेनिंग करने वालों की परीक्षा नारनौल में बुलाकर करवाई जा रही है कहीं विभाग का ट्रेनिंग स्कूल नारनौल ले जाने के प्लान का यह पहला स्टेप तो नहीं हैं। उन्होंने कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि यदि ट्रेनिंग स्कूल ले जाने को लेकर उन्हें पुख्ता सबूत मिले तो क्षेत्र के लोगों को सड़कों पर उतरकर आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ेगा।

उन्होंने ट्रेनिंग स्कूल की परीक्षा भी महेंद्रगढ़ में ही करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि एक अधिकारी को परेशानी से बचाने के लिए 140 युवाओं को तंग करना खट्टर सरकार का कानून है या फिर अधिकारियों का बनाया कानून है।

चालक बनने के लिए दी जाती है 35 दिन की ट्रेनिंग

बस स्टैंड पर वर्ष 2006 में ट्रेनिंग स्कूल की शुरुआत हुई थी। तब से लगातार यहां प्रशिक्षण देने का कार्य चल रहा है। सर्दियों में एक बैच में 140 तथा गर्मियों में दो बैच में 140-140 युवाओं को चालक बनकर भविष्य संवारने वाले युवाओं को 35 दिन की ट्रेनिंग दी जाती है। अभी एक ही बैच में प्रशिक्षण दिया जा रहा था प्रशिक्षण पूरा होने पर एक अप्रैल को उनकी परीक्षा ली जानी है। गर्मी शुरु होने के कारण अब दो अप्रैल से दो बैच में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

परीक्षा महेंद्रगढ़ में ही कराने को लेकर डीसी को ज्ञापन

चालक ट्रेनिंग स्कूल की परीक्षा महेंद्रगढ़ में ही करवाए जाने को लेकर मंगलवार को सामाजिक कार्यकर्ता रामनिवास पाटोदा के नेतृत्व में युवा सोमदत्त, सोनू, सरजीत, रतन, पवन सहित अन्य ने डीसी अजय कुमार को सौंपे ज्ञापन में बताया कि ट्रेनिंग के बाद युवाओं को परीक्षा के लिए नारनौल के धक्के खाने पड़ेंगे। यह प्रथा ट्रेनिंग स्कूल पर भी संकट के समान है। ऐसे में युवाओं को परेशानियों से बचाने के लिए परीक्षा का आयोजन यहां पर ही हो।

प्रतिदिन 5 किलोमीटर चलवाई जाती है बस

महेंद्रगढ़ अड्डे पर ट्रेनिंग स्कूल के पास 7 रोडवेज बसें है। एक बस में 20 प्रशिक्षणार्थियों को बैठाकर प्रत्येक से 5 किलोमीटर बस चलवाकर प्रशिक्षण दिया जाता है। इस प्रशिक्षण के आधार पर ही युवाओं के हैवी वाहन चलाने का लाइसेंस बनता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें