पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समस्या:अपग्रेड से सीएचसी बना पर हालात नहीं बदले, अस्पताल में सुविधाएं नहीं बढ़ीं

सतनाली मंडी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
समस्या }कंडम घोषित भवन में चल रहे सतनाली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नए भवन निर्माण की मांग ने जोर पकड़ा - Dainik Bhaskar
समस्या }कंडम घोषित भवन में चल रहे सतनाली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नए भवन निर्माण की मांग ने जोर पकड़ा
  • कंडम घोषित भवन में चल रहे सतनाली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नए भवन निर्माण की मांग ने जोर पकड़ा

कंडम घोषित भवन में चल रहे सतनाली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नए भवन निर्माण की मांग जोर पकड़ती जा रही है। इसी कड़ी में रविवार को कस्बे के जैमदार चौक में सीएचसी का भवन निर्माण जल्द शुरु करने की मांग को लेकर बैठक का आयोजन किया गया। निवर्तमान सरपंच प्रतिनिधि होशियार सिंह उर्फ ढिल्लू शेखावत के सान्निध्य में आयोजित इस बैठक की अध्यक्षता कुंभ सिंह ने की।

बैठक में सरपंच प्रतिनिधि होशियार सिंह ने कहा कि सतनाली के इस अस्पताल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तो बना दिया गया है लेकिन इसके भवन निर्माण के लिए कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि इस अस्पताल पर क्षेत्र की डेढ़ लाख से अधिक की आबादी के स्वास्थ्य का जिम्मा है लेकिन इसका भवन जर्जर है जिससे यहां सुविधाओं का भी अभाव है।

निवर्तमान पंच संतू शेखावत ने कहा कि सतनाली पीएचसी को हुड्डा सरकार में अपग्रेड कर सीएचसी बनाया गया था लेकिन इसके जर्जर हो चुके भवन के स्थान पर नया भवन बनाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है जिससे सतनाली क्षेत्रवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

अस्पताल में गंभीर घायलों के उपचार की कोई सुविधा नहीं है। जल्द से जल्द अस्पताल का भवन बनाया जाए और आवश्यक स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि अगर एक महीने में सतनाली सीएचसी के नए भवन निर्माण की प्रक्रिया शुरु नहीं की जाती है तो मजबूरी में लोगों को आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा जिसका जिम्मेवार शासन प्रशासन होगा।

इस मौके पर कुलवंत डालनवास, निवर्तमान पंच संतू शेखावत, कंवरसेन नंबरदार, मा. रामजीलाल कायथ, नेस्सु पहलवान, दीपक, संतोष सिंह, बीरसिंह, सुरेंद्र सिंह, राजेश, सतबीर, अरूण, मनोज सिंह, चंद्रभान उपस्थित रहे।

लोग बोले-कब सुधरेंगे हालात

  • समाजसेवी विनोद पाली ने कहा कि सरकार आमजन को बेहतर स्वास्थ सेवा उपलब्ध करवाने के दावे कर रही है। वहीं दूसरी ओर वर्षों पूर्व बने सतनाली का सरकारी अस्पताल खुद ही बीमार है। अस्पताल को सीएचसी में अपग्रेड तो कर दिया गया है लेकिन अस्पताल जर्जर भवन में चल रहा है।
  • समाजसेवी बलवान फौजी ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्य की बात है कि डेढ़ लाख की आबादी के स्वास्थ्य का जिम्मा संभाल रहा सरकारी अस्पताल जर्जर भवन में ही चलाया जा रहा है।
  • समाजसेविका पारुल राव ने कहा कि सतनाली सीएचसी का नया भवन बनाने और इसके अभाव में सतनाली क्षेत्रवासियों को हो रही परेशानी की बात को चंडीगढ़ तक पहुंचाया जाएगा।
खबरें और भी हैं...