पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसा:एक साल से झुका बिजली का खंभा बारिश के बाद आवासीय मकान पर गिरा

नांगल चौधरी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नांगल चाैधरी में मकान पर गिरा बिजली का पाेल। - Dainik Bhaskar
नांगल चाैधरी में मकान पर गिरा बिजली का पाेल।

दोस्तपुर में हरिजन चौपाल के पास एक झुका हुआ बिजली का खंभा रविवार देर रात बारिश की दलदल होने से आवासीय मकानों पर गिर गया। गनीमत यह रही कि इस दौरान परिजन कमरे में सोए हुए थे, जिस कारण जानलेवा हादसा टल गया। घटना से बिजली निगम के अधिकारियों को अवगत करवा दिया। इसके बावजूद उन्होंने अभी तक मौका निरीक्षण नहीं किया है, जिससे ग्रामीणों में निगम के खिलाफ आक्रोश है।

ग्रामीणों ने बताया कि ग्रामीणों की घरेलू तथा बोरवेलों की बिजली सप्लाई के लिए हाईटेंशन लाइन बिछाई गई थी। सप्लाई लोड बढ़ने पर निगम ने घरेलू, कॉमर्शियल तथा बोरवेलों के लिए अलग-अलग फीडर स्थापित कर दिए, लेकिन जर्जर तार व खंभाें की रिपेयर नहीं की। दोस्तपुर गांव में बीते करीब एक साल से हाईटेंशन लाइन का खंभा आवासीय मकान की दीवार पर टिका हुआ था।

समाधान के लिए ग्रामीणों ने सीएम विंडो पर शिकायत दर्ज कराई थी, किंतु जिम्मेदार अधिकारियों ने कागजों में समाधान दिखाकर सीएम विंडो की कंप्लेंट को फाइल कर दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने निगम के अधिकारियों को शिकायत व टेढे खंबे की फोटो सौंपी थी। उस दौरान अधिकारियों ने पांच दिन में खंभे काे सीधा कराने तथा जर्जर तारों की रिपेयर का भरोसा दिया था। जिसे आठ महीने से अधिक समय बीत चुका है, लेकिन अभी तक मौका निरीक्षण भी नहीं हुआ।

रविवार की शाम बारिश में मिट्टी धंसने से खंबा मकान की दीवार पर गिर गया। बिजली सप्लाई चालू होने के कारण तारों में स्पार्क हो गया, जिससे कई ग्रामीणों के घरेलू उपकरण जल गए है। जानलेवा हादसे से चिंतित ग्रामीणों ने रात को ही फोन करके हादसे की कंप्लेंट दर्ज करवा दी, परंतु अभी तक स्थिति यथावत बनी हुई है। आक्रोशित ग्रामीणों ने खंभे को खड़ा करने तथा बिजली सप्लाई वाली लाइनों को सुरक्षित कराने की गुहार लगाई है। अन्यथा खंड कार्यालय पर धरने-प्रदर्शन का अल्टीमेटम दिया है।

बारिश की दलदल से गिर गए दो पोल, जल्द दुरुस्त करेंगे

बिजली निगम के कनिष्ठ अभियंता वेदप्रकाश ने बताया कि दोस्तपुर में हाईटेंशन लाइन का खंभा गिरने की शिकायत पर मौका निरीक्षण किया है। बारिश की दलदल से दो खंभे गिर गए हैं, जिन्हें खड़ा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि हाईटेंशन की लाइन घरों के ऊपर से क्रॉस नहीं कर रही है। पूरी लाइन रास्ते पर है, जिससे लोगों को जानलेवा खतरा दिखाई नहीं दे रहा है।

कृष्णावती नदी की तरफ से लाइन बिछाने की मांग

ग्रामीणों ने बताया कि अतिक्रमण के चलते गांव के अधिकतर रास्ते संकरे हो गए, साथ ही 90 डिग्री वाले मोड़ पर खंभाें को सपाेर्ट देना संभव नहीं, जिस कारण लाइन गिरने की संभावना रहती है। समाधान के लिए सप्लाई लाईन को कृष्णावती नदी की तरफ से बिछाना उचित रहेगा, क्योंकि इधर आवासी मकान भी नहीं और निगम को खंभे व तारों की बचत हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...