पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कालाबाजारी पर लगेगी लगाम:उधर, नांगल चौधरी में परचून की दुकानों पर किया औचक निरीक्षण

नांगल चौधरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जमाखोरी की शिकायतों पर हरकत में आया खाद्य एवं आपूर्ति विभाग
  • जिला प्रशासन ने जरूरी खाद्य वस्तुओं के रेट किए निर्धारित

जिला उपायुक्त अजय कुमार के निर्देशानुसार खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने शुक्रवार को नांगल चौधरी में कई परचून की दुकानों पर चेकिंग की। इस दौरान विभिन्न सामग्री की कीमत व स्टॉक का विवरण लिया गया, साथ ही दुकानदारों को सामग्री की रेट लिस्ट काउंटर पर चस्पा करने के निर्देश दिए।

विभागीय अधिकारियों ने दुकानदारों को चेतावनी भी दी कि कालाबाजारी की शिकायत मिलने पर केस दर्ज कराया जाएगा। बता दें कि कोरोना संक्रमण बढ़ते ही जमाखोर सक्रिय हो गए। उन्होंने दैनिक उपयोगी वस्तुओं का गोदामों में स्टॉक करना आरंभ कर दिया। आपूर्ति नहीं होने पर उपभोक्ताओं को महंगे दामों में बेच रहे हैं। सूत्रों की मानें तो 70 रुपए किलोग्राम में मिलने वाली दाल के रेट 130 रुपए किलोग्राम हो चुके हैं। अन्य सामग्री भी महंगी होने की वजह से आमजन की परेशानी बढ़ गई।

शिकायत मिलने पर जिला उपायुक्त ने विभागीय अधिकारियों को छापेमारी व कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। आदेशों के मुताबिक विभाग के उप निरीक्षक अशोक कुमार की अगुवाई में टीम ने सबसे पहले पंजाब नेशनल बैंक के सामने एक परचून की दुकान का औचक निरीक्षण किया। यहां दुकानदार के पास सामग्री की रेट लिस्ट नहीं मिली, इसके अलावा काउंटर पर सेनिटाइजर भी नहीं था। सामान की बिक्री रेट संतोषजनक होने पर उन्होंने अस्थाई बस स्टैंड पर दुकानों का निरीक्षण किया। सभी दुकानदारों को रुटीन वाली कीमत पर सामान बेचने के निर्देश दिए।

करीब दो घंटे चली कार्रवाई में 10 दुकानों का निरीक्षण किया गया। इस दौरान व्यापारियों को सोशल डिस्टेंस मेंटेन रखकर बिक्री करने के निर्देश दिए। दुकानदारों से कहा गया कि काउंटर पर सेनिटाइजर उपलब्ध होनी चाहिए, ताकि ग्राहक हाथों को साफ कर सके। उन्होंने दुकानदारों से दाल, चीनी, चावल, आटा व अन्य दैनिक उपयोगी वस्तुओं की सूची व स्टॉक पूछा, साथ ही कहा कि जिला प्रशासन की कालाबाजारी व जमाखोरी पर पेनी नजर है। धांधली करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

खबरें और भी हैं...