पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खनन माफिया बेखौफ:ढाणी बाठोठा नदी में पुलिस ने छापेमारी में एक पिकअप व ट्रैक्टर किया इंपाउंड, माफिया भागने में रहा कामयाब

नांगल चौधरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गुप्तचरों को चकमा देकर गांव वाले रास्ते से नदी में पहुंचे एसएचओ, गाड़ी देखते माफिया में मची भगदड़

प्रशासन पुरी तरह चौकस है, किंतु खनन माफिया भी उससे ज्यादा सतर्कता के साथ बेखौफ खनन कार्य में जुटे हुए हैं।

रविवार को भी यह सिलसिला जारी रहा। शाम पांच बजे ढाणी बाठोठा नदी में खनन शुरू हुआ, नदी के चारों ओर मोबाइलों से लैस गुप्तचरों की फिल्डिंग सजी हुई थी, जिस कारण उन्हें पकड़े जाने का डर नहीं था, लेकिन इस बीच थाना इंचार्ज राजकरण ने गुप्तचरों को चकमा देते हुए गांव वाले रास्ते से मौके पर पहुंच गए। नजदीक ही पुलिस की गाड़ी देखकर माफिया सकपका गया।

पुलिस देखकर अचानक भगदड़ मची। बिजाई किए गए खेतों के बीचोंबीच से खनन कार्य करने वाले संसाधनों को इधर-उधर कर दिया गया। इस बीच एसएचओ ने घेराबंदी करके एक ट्रैक्टर तथा एक पिकअप को जब्त कर लिया। इसके बाद अब पुलिस ने भगौड़े माफिया की तलाश शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक ढाणी बाठोठा की नदी तथा खेतों समेत 100 प्वाइंटों पर बजरी खनन हो रहा है। खनन क्षेत्र सड़क के किनारे होने के बावजूद माफिया में कोई डर नहीं। क्योंकि नदी तक पहुंचने से पहले चारों ओर मोबाइलों से लैस गुप्तचर तैनात किये जाते हैं, जोकि सरकारी गाड़ी या संदिग्ध लोगों को देखते ही माफिया को अलर्ट कर देते हैं।

कड़ी सुरक्षा होने के कारण प्रशासनिक कार्रवाई अंजाम तक नहीं पहुंच पाई। इधर नदी में खनन होने से खेल ग्राउंड, जोहड़, श्मशान घाट तथा 60 हजार से अधिक पौधे नष्ट हो चुके।

मामला उजागर होने क बाद थाना प्रभारी ने तीन दिन पहले नदी में छापा मारा, किंतु गुप्तचरों की सक्रियता के चलते सफलता नहीं मिली। इसके बाद रविवार शाम करीब पांच बजे नदी में दुबारा छापेमारी की योजना बनाई। गुप्तचरों की नजर से बचते हुए गांव वाले रास्ते से खनन क्षेत्र तक पहुंचे। रास्ता उबड़-खबड़ था, जिस कारण वाहन को तेज रफ्तार से भगाना संभव नहीं हुआ

। दूसरी ओर पुलिस की गाड़ी देखते ही माफिया में खलबली मच गई। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो ट्रैक्टरों पर लोडर लगाकर बजरी भरने का काम हो रहा था। उन्होंने बिजाई किए हुए खेतों के बीचों-बीच से शातिरों को भगा दिया। इधर मिट्टी के टीबों में एसएचओ की गाड़ी पीछा करने में सफल नहीं हुई, लेकिन घेराबंदी में एक ट्रैक्टर तथा एक पिकअप जरूर पकड़ में आई। उन्होंने तीनों वाहनों को नांगल चौधरी बाड़े में बंद कर दिया।

लगभग 100 ट्रैक्टर और पिकअप की लगी थी कतार

सुत्रों की मानें तो नदी में बजरी भराने के लिए करीब 100 ट्रैक्टर व पिकअप कतार में खड़ी थी, क्योंकि अधिकतर लोग प्रशासनिक टीम को चकमा देने के लिए पिकअपों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। ढाणी बाठोठा की तरफ से पुलिस आती देखकर कतार में खड़े वाहन नांगल शालू की ओर भाग गए। खनन कराने वाले लोग खेतों में बैठ गए, बिना कोई सबूत मिले पुलिस ने उनसे कोई पूछताछ नहीं की।

युवाओं में नशाखोरी का बढ़ रहा प्रचलन

ग्रामीणों की मानें तो खनन माफिया द्वारा गुप्तचरों को शराब व अन्य नशे की अन्य सामग्री उपलब्ध कराई जाती है। नशे में धुत युवा पूरी रात सड़क व गांव की गलियों में बाइक दौड़ाते हैं, जिस कारण दुर्घटना का खतरा बढ़ गया। साथ ही सामाजिक अपराधों की बढ़ोतरी से इंकार नहीं किया जा सकता। प्रबुद्ध लोगों द्वारा अवैध गतिविधियां बंद करने की हिदायत पर लड़ाई की स्थिति हो जाती है।

लोडर वाले ट्रैक्टर पकड़ने के प्रयास में खाली वाहन भी हाथ से निकल गए

थाना इंचार्ज राजकरण ने बताया कि रविवार शाम ढाणी बाठोठा नदी में बजरी खनन की सूचना मिली थी। पुलिस को नदी में पहुंचते ही अवैध खनन करने वाले माफियाओं में भगदड़ मच गई। हमने लोडर वाले ट्रैक्टर पकड़ने का प्रयास किया, किंतु नांगल शालू गांव में घुसने की वजह से सफलता नहीं मिली। इधर खाली संसाधन भाग गए, केवल एक ट्रैक्टर और एक पिकअप पकड़ी गई है। दोनों वाहनों

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें