नारनौल-बहरोड-खैरथल-अलवर रेलवे लाइन का होगा सर्वे:हरियाणा के बाद राजस्थान सरकार ने भी दी सहमति

नारनौलएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

दक्षिणी हरियाणा को उत्तरी राजस्थान से रेलवे लाइन से जोड़े जाने वाली प्रस्तावित रेललाइन की फिजिबिलिटी स्टडी के लिए हरियाणा रेल कारपोरेशन को राजस्थान सरकार ने भी अपनी सहमति प्रदान कर दी है। यह रेल लाइन बन जाने के बाद झज्जर-कोसली-कनीना-नारनौल-बहरोड़-खैरथल अलवर को जोडेगी।

नांगल चौधरी के विधायक डॉ अभयसिंह यादव ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इस रेलवे लाइन के निर्माण का मूल उद्देश्य दक्षिणी हरियाणा एवं पूर्वी राजस्थान को रेल मार्ग से जोड़ना है। इससे न केवल क्षेत्र के लोगों का आपस में रेलवे लाइन द्वारा जुड़ाव होगा, बल्कि राजस्थान के नीमराणा बहरोड़ एवं अलवर जिले के समस्त औद्योगिक क्षेत्र नारनौल के नजदीक वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर बनने वाले लॉजिस्टिक हब से भी सीधे जुड़ जाएंगे।

इससे इस समस्त क्षेत्र के औद्योगिक विकास को गति मिलेगी तथा इसके साथ ही यह मार्ग राजधानी क्षेत्र दिल्ली की भीड़ वाले इलाके से बाहर उत्तरी एवं पश्चिमी भारत को जोडऩे के लिए एक प्रभावशाली रेलवे कॉरिडोर का काम भी करेगा। उन्होंने बताया कि झज्जर से नारनौल तक के भाग की स्वीकृति हरियाणा सरकार पहले ही दे चुकी है। इस हिस्से के सर्वे का काम तेजी से चल रहा है। अब राजस्थान सरकार द्वारा दी गई सहमति के बाद राजस्थान वाले हिस्से की भी सर्वे प्रारंभ की जाएगी। इसके बाद में इस पूरे प्रोजेक्ट की विस्तृत रिपोर्ट रेल मंत्रालय को भेजी जाएगी।

रेल मंत्रालय की स्वीकृति के बाद इस प्रोजेक्ट पर आगे प्रगति संभव हो पाएगी। इस क्षेत्र के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है जो हरियाणा एवं राजस्थान दोनों ही क्षेत्रों के लिए विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने के लिए जो भी प्रयास संभव होंगे सभी किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...