पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ठग से अलर्ट:किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करने से पहले उसकी प्रामाणिकता परखें फिशिंग अटैक से बचने के लिए अपनी निजी जानकारी साझा न करें

नारनौल9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन ने कहा कि साइबर ठग लोगों को जाल में फंसाने के लिए नए-नए पैतरे आजमाते हैं। इसलिए हमें हर पल अलर्ट रहना चाहिए। किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करने से पहले उसको अच्छी तरह से जांच परख लेना आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि इसी तरह कुछ निधि कंपनियां जो कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय से घोषणा प्राप्त करने में विफल रहीं हैं, कंपनियों के अधिनियम को भी फॉलो नहीं करतीं। ऐसी कंपनियों में अपने पैसे इन्वेस्ट न करें, क्योंकि इससे आपको आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

हालांकि पुलिस इन कंपनियों पर कड़ी नजर रख रही है, फिर भी अपने स्तर पर सावधानी जरूरी है। इसके लिए आमजन में जागरुकता पैदा करने के लिए एडवाइजरी जारी की गई है, ताकि उन्हें अपने फंड को ब्लॉक करने से रोका जा सके। ऐसी कंपनियों को किसी भी आमजन के साथ धोखा करने से जागरूक होकर ही रोका जा सकता है। इसलिए किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करने से पहले उसको अच्छी तरह से जांच परख लेें।

यूं फंसाते हैं आमजन को

ईमेल फिशिंग:– फिशिंग इलेक्ट्रॉनिक संचार माध्यमों जैसे ई-मेल/एसएमएस/फोन के माध्यम से भरोसेमंद इकाई के रूप में संदेश भेजकर उपयोगकर्ता का नाम, पासवर्ड, पिन, ओटीपी, बैंक डेबिट/क्रेडिट कार्ड विवरण जैसी जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करने का एक तरीका है। नकली ईमेल जो मौद्रिक लाभ के लिए व्यक्तिगत डेटा निकालने के लक्ष्य के साथ भरोसेमंद दिखाई देते हैं।

फिशिंग स्कैम में अक्सर ऐसे अटैचमेंट शामिल होते हैं जो कंप्यूटर पर मेलवेयर लोड करते हैं या ऐसी गैरकानूनी वेबसाइटों से लिंक करते हैं जो पीड़ित व्यक्ति को व्यक्तिगत डेटा सौंपने में धोखा दे सकते हैं।

फिशिंग ईमेल की सामान्य विशेषताएं

1. सच्चा होने के लिए बहुत अच्छा बनना। 2. उत्साह की भावना। 3. हाइपरलिंक्स 4. अटैचमेंट 5. अनयूजअल सेंडर

2. फोन कॉल(विशिंग):– साइबर अपराधी घोटाले के शिकार लोगों को निजी सूचनाओं जैसे कि सामाजिक सुरक्षा नंबर और बैंक विवरण में आत्मसमर्पण करने के लिए रिकॉर्ड किए फोन संदेश का उपयोग करते हैं। एक सामान्य वशीकरण घोटाले में एक अपराधी को बैंककर्मी या डेबिट/क्रेडिट कार्ड कंपनी के व्यक्ति के रूप में शामिल किया जाता है, वे पीड़ित को बताते हैं कि उनका खाता तोड़ दिया है। अपराधी तब पीड़ित को पहचान या बैंक विवरण आदि सत्यापित करने को भुगतान कार्ड विवरण प्रदान करने के लिए कहते हैं। कभी भी अपनी व्यक्तिगत जानकारी न दें।

3. टैक्स्ट मैसेज(एसएमआईशिंग):– एसएमएस कर आमजन को मोबाइल मैलवेयर डाउनलोड करने, दुर्भावनापूर्ण वेबसाइट पर जाने या धोखाधड़ी वाले फोन नंबर पर कॉल करने को उकसाते हैं। एसएमआइशिंग संदेश आमतौर पर एक तत्काल कार्रवाई को तैयार करते हैं, अपराधी आपसे आपकी व्यक्तिगत जानकारी और निजी खाते के विवरण का अनुरोध करते हैं।

बचाव जरूरी : संदेश का उत्तर देने या किसी लिंक पर क्लिक न करें। संदेश हटाएं और प्रेषक का नंबर ब्लॉक करें।
4. व्हेलिंग:– व्हेलिंग में लक्षित हमले शामिल हैं, जो किसी संगठन के वरिष्ठ अधिकारियों को लक्ष्य बनाते हैं। व्हेलिंग स्कैम का एक उदाहरण फर्जी टैक्स रिटर्न है। अपराधियों द्वारा कर रूपों को अत्यधिक महत्व दिया जाता है क्योंकि उनमें व्यक्तिगत रूप से पहचान योग्य जानकारी (पीआईआई) होती है, जैसे कि नाम, पता और बैंक खाता विवरण।

फिशिंग हमले से कैसे बचें

​​​​​​​1. क्लिक करने से पहले सोचें।
2. वैध बैंक या कंपनी फोन या ईमेल पर कभी भी आपकी संवेदनशील जानकारी नहीं पूछते।
3. ईमेल या एसएमएस में गलत वाक्य या स्पेलिंग के लिए देखें।
4. ईमेल भेजने वाले का यूआरएल या डोमेन देखें।
5. कस्टमर केयर नंबर, बैंक वेब साइट्स, मोबाइल ऐप्स और सॉफ्टवेयर सर्च करते समय सावधान रहना चाहिए।
6. ईमेल भेजने वाले का एड्रेस देखें।
7. जोड़-तोड़ वाले शब्दों से सावधान रहें।
8. Https या पैडलॉक आइकन देखें।
9. आप किसी भी असामान्य सूचना सुरक्षा गतिविधि या साइबर हमले की रिपोर्ट ISMO के साथ कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें