पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासनिक कड़ाई:जिला महेंद्रगढ़ रेड से होगा ग्रीन, 14 दिन की अवधि पूरी होते सभी जोन डि-नाेटिफाई हो जाएंगे

नारनौल8 दिन पहलेलेखक: धर्मनारायण शर्मा
  • कॉपी लिंक

जिला महेंद्रगढ़ कोरोना संक्रमण के रेड जोन से अब ग्रीन जोन की ओर अग्रसर है। यहां अब तक बनाए गए 26 कंटेनमेंट जोन में से केवल 2 अभी भी प्रशासनिक कड़ाई की पालना दायरे में रह गए हैं। इनमें पाथेडा व सलीमपुर शामिल हैं। शेष 24 को कंटेनमेंट जोन की परिधि से बाहर किया जा चुका है। इसका कारण यहां के लोगों का संक्रमण की मार से बाहर होना तथा सरकारी की गाइडलाइन के अनुरूप सामाजिक व्यवहार करना रहा है।

बता दें कि जिले में कोरोना संक्रमण के दूसरे दौर में 26 कंटेनमेंट जोन बनाए गए। अब यहां केवल 2 गांवों में कंटेनमेंट जोन बचे हैं। ये गांव भी इसके दायरे से बाहर हो जाते किंतु दोबारा से यहां संक्रमित मिलने पर सीलमपुर व पाथेडा को प्रशासन की ओर से कोविड-19 की पाबंदी से मुक्त नहीं किया गया।

सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक किसी भी इलाके में 15 से ज्यादा केस मिलने पर उसे कंटेनमेंट जोन बनाया जाता है। वहां के सभी लोगों की स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच करती है। किसी के संक्रमित ना मिलने पर 10 दिन बाद एक बार फिर जांच होती है। अगर दोबारा कोई संक्रमित मिलता है तो उस इलाके को फिर से कंटेनमेंट जोन की 14 दिन की अवधि में पाबंदी के दायरे में रहना पड़ता है। अगर ऐसा ना हो तो पहली बार 14 दिन की क्वारंेटाइन टाइम को पूरा करने के बाद उसे डी-नोटिफाइड एरिया घोषित कर दिया जाता है।

अब केवल 2 गांवों में कंटेनमेंट जोन बचे

जिले में सबसे पहला कंटेनमेंट जोन नारनौल शहर की ईदगाह बस्ती को घोषित किया गया था। इसे 26 अप्रैल को कंटेनमेंट जोन बनाया गया तथा 14 मई को इसे डी-नोटिफाइड एरिया बनाया गया। इसके बाद 26 अप्रैल को अटेली का तिगरा गांव, महेंद्रगढ़ का बवानिया तथा कनीना क्षेत्र का अगिहार शामिल किया गया। ये सभी 13 मई को कंटेनमेंट जोन से मुक्त हो गए।

इस प्रकार बनते रहे कंटेनमेंट जोन

  • 26 अप्रैल-ईदगाह कॉलोनी नारनौल, तिगरा, बवानिया,अगिहार।
  • 28 अप्रैल-गणियार,अटेली वार्ड6,ढाणी मालियान, पाथेडा।
  • 30 अप्रैल गुजरवास।
  • 4 मई कोरियावास।
  • 6 मई-दुबलाना
  • 7 मई-निहालावास, गुवानी।
  • 8 मई-सिलारपुर, बूचावास, सलूनी, खेडी, उनींदा ढाणी।
  • 10 मई-मेघनवास।
  • 11 मई-कारोली।
  • 12 मई- सिगडी, रामबास।
  • 14 मई-बुचोली।

जिले में अब पाथेड़ा और सलीमपुर में ही कंटेनमेंट जोन बचे हैं

जिले में दूसरे चरण में 26 कटेनमेंट जोन बनाए गए। उनमें से दो अभी भी कंटेनमेंट जोन में शामिल है। पाथेडा और सलीमपुर में कोविड-19 जांच के दौरान दोबारा पॉजिटिव केेस मिलने पर इसे कंटेनमेंट जोन ही बनाए रखा गया है। 14 दिन की इनकी अवधि पूरी होते ही इन्हें भी पाबंदी मुक्त कर किया जाएगा।
-डॉ. अशोक कुमार, सीएमओ, नारनौल।

खबरें और भी हैं...