पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अदालत में पेशी:3 दिन के रिमांड के बाद गैंगस्टर चीकू को किया कोर्ट में पेश

नारनौलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब रिकवरी के नाम पर ग्वालियर ले जाएगी पुलिस, अदालत ने 2 दिन का रिमांड और दिया

फिरौती मांगने के आरोप में शनिवार सुबह गिरफ्तार किए गए गैंगस्टर सुरेंद्र उर्फ चीकू व उसके साले विकास चौधरी बलाहा खुर्द को तीन दिन के रिमांड की अवधि पूरी होने के बाद मंगलवार दोपहर बाद पुलिस ने नारनौल अदालत में पेश किया। यहां पुलिस पक्ष की ओर से रिकवरी के नाम पर 3 दिन का पुलिस रिमांड देने की मांग की गई।

अदालत ने मामले की सुनवाई के बाद दो आरोपियों को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया। अब 1 अप्रैल को पुलिस रिमांड अवधि पूरी होने के बाद आरोपियों को फिर अदालत में पेश करेगी। इस अवधि के दौरान रिकवरी के नाम पर उन्हें ग्वालियर ले जाया जाएगा। इस बीच पुलिस ने चीकू के साले विकास चौधरी से 3 लाइसेंसी हथियार भी बरामद किए हैं।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पहली बार मिली 3 दिन की रिमांड अवधि में पहले सुरेंद्र उर्फ चीकू मोहनपुर व विकास बलाहा खुर्द को मामले की छानबीन के दौरान रिकवरी के लिए अहमदाबाद ले जाया जाना था। अदालत में पुलिस की ओर से बताया गया कि जब इन्हें अहमदाबाद ले जाया जा रहा था, तभी जयपुर से पहले बीच रास्ते में उन्हें आरोपियों ने बताया कि वह सामान तो ग्वालियर में है। ऐसे में टीम को वापस लौटना पड़ा।

अब हमें बताए गए ठिकाने से सामान की रिकवरी करनी है, इसलिए 3 दिन का रिमांड और दिया जाए। सीजेएम अनिल कुमार की कोर्ट ने पुलिस की दलील सुनने के बाद आरोपियों को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजे जाने के आदेश जारी किए। अब उन्हें एक अप्रैल को पेश किया जाएगा।

कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में लाया गया चीकू

मंगलवार को दोपहर करीब सवा 2 बजे जब दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के लिए लाया गया तो पुलिस की ओर से किसी अनहोनी को टालने के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। इस मौके पर नारनौल सिटी एसएचओ कृपाल सिंह, नांगल चौधरी एसएचओ मेहरचंद, नारनौल सीआईए इंचार्ज जसबीर सिंह, महेंद्रगढ़ सीआईए इंचार्ज अनिल कुमार, निजामपुर चौकी इंचार्ज रामेश्वर के अलावा महिला पुलिस की टीम भी मौजूद थी, जिस सुरक्षा दल के बीच इन्हें लाया गया, उसमें सबसे आगे एलएमजी लैस पुलिस की जिप्सी भी चल रही थी।

उन्हें कोर्ट में पेश करते समय पुलिस कर्मचारी बुलेट प्रूफ जैकेट पहने हुए थे। करीब सवा एक घंटे तक आरोपी अदालत परिसर में रहे। इस बीच सरकारी वकील के आने में देरी होने के कारण इन्हें बाहर भी बैठाए रखा गया। दूसरी ओर सेशन कोर्ट के विभाजन के मसले पर वकीलों की चल रही हड़ताल के चलते आरोपियों के पक्ष से कोई भी वकील अदालत में पेश नहीं हो सका।

ऐसे में जिला बार एसोसिएशन द्वारा पूर्व में लिए गए फैसले के अनुसार ऑडिटर राजेंद्र सिंह प्रॉक्सी एडवोकेट के तौर पर उनका पक्ष रखने के लिए कोर्ट में पेश हुए। दलीलें सुनने के बाद इन्हें दो दिन के रिमांड पर भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें