पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बद से बदत्तर एनएच-148 के हालात:गड्ढे में खराब ट्रक की वजह से नांगल सिरोही में दिनभर लगा रहा जाम

नारनौल14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2:30 से 3 घंटे तक का हुआ 72 किलोमीटर का 1:30 घंटे का सफर

20 दिसंबर को आईटीआई मैदान में जलअधिकार रैली थी। उसमें सांसद धर्मबीर सिंह ने स्पष्ट कहा था कि ‘सीएम साहब नारनौल-महेंद्रगढ़-दादरी नेशनल हाइवे-148बी पर सफर करते हैं तो शर्म आती है। यह सड़क 2009 में कांग्रेस को ले डूबी थी, इसको बनवा दो’। यह कहते हुए वे मुस्करा दिए।

उस समय भले ही उनकी बात को यूं समझा गया हो कि सड़क ठीक नहीं हुई तो इस बार भाजपा की बारी है, लेकिन उनकी यह बात सही मायने में उनकी पीड़ा दर्शाती है कि सड़क की हालत बहुत ही खराब है। चार रोज पूर्व हुई बारिश के बाद तो हालात बद से बदत्तर हो गए हैं।

नारनौल से दादरी दादरी तक का 72 किलोमीटर का सफर जो डेढ़ से पौने 2 घंट में तय होता था उसमें अब ढाई से तीन घंटे लगने लगे हैं। इसमें मंदौला से दादरी तक तो महज 15 मिनट ही लगती हैं, क्योंकि मंदौला से दादरी तक तो फोरलाइन हाइवे बन चुका है।

यानि मंदौला से नारनौल तक की 55 से 60 किलोमीटर की दूरी ही 2 घंटे से अधिक समय में तय हो रही है और दिन प्रतिदिन बढ़ते गड्ढों की वजह से यह समय और भी बढ़ता ही जा रहा है। समय ही जाया नहीं होता बल्कि सफर के दौरान धूल, धुआं और धक्के भी खाने पड़ते हैं। इससे ना केवल शारीरिक व मानसिक पीड़ा होती है बल्कि वाहनों को भी नुकसान पहुंचता है।

रोड पर रोड़ों की भरमार

नारनौल से दादरी तक इस हाइवे पर जितने भी मुख्य बस अड्डे हैं, सब पर हालात खराब हैं। नारनौल से निकलते ही लहरोदा व पहाड़ी के समीप, फैजाबाद चौकी, हुडीना से निकलकर नहर के समीप, नांगल सिरोही में प्रवेश से लेकर निकासी तक यानि गांव में पड़ने वाला संपूर्ण हिस्सा, जोनावास अड्डे के समीप नहरी की पुलिया पर, महेंद्रगढ़ शहर के संपूर्ण हिस्से में, आकोदा, बधवाना, आमदुपर व मंदौला में तो सड़क अपना अस्तित्व ही खो चुकी है।

रोड़े इधर-उधर बिखर चुके हैं और लंबे चौड़े तथा गहरे गड्ढे बन चुके हैं। इन गड्ढों में बारिश का पानी जमा है, जहां पानी नहीं है वहां कीचड़ बना हुआ है।

नारनौल

20 दिसंबर को आईटीआई मैदान में जलअधिकार रैली थी। उसमें सांसद धर्मबीर सिंह ने स्पष्ट कहा था कि ‘सीएम साहब नारनौल-महेंद्रगढ़-दादरी नेशनल हाइवे-148बी पर सफर करते हैं तो शर्म आती है। यह सड़क 2009 में कांग्रेस को ले डूबी थी, इसको बनवा दो’। यह कहते हुए वे मुस्करा दिए।

उस समय भले ही उनकी बात को यूं समझा गया हो कि सड़क ठीक नहीं हुई तो इस बार भाजपा की बारी है, लेकिन उनकी यह बात सही मायने में उनकी पीड़ा दर्शाती है कि सड़क की हालत बहुत ही खराब है। चार रोज पूर्व हुई बारिश के बाद तो हालात बद से बदत्तर हो गए हैं। नारनौल से दादरी दादरी तक का 72 किलोमीटर का सफर जो डेढ़ से पौने 2 घंट में तय होता था उसमें अब ढाई से तीन घंटे लगने लगे हैं। इसमें मंदौला से दादरी तक तो महज 15 मिनट ही लगती हैं, क्योंकि मंदौला से दादरी तक तो फोरलाइन हाइवे बन चुका है।

यानि मंदौला से नारनौल तक की 55 से 60 किलोमीटर की दूरी ही 2 घंटे से अधिक समय में तय हो रही है और दिन प्रतिदिन बढ़ते गड्ढों की वजह से यह समय और भी बढ़ता ही जा रहा है। समय ही जाया नहीं होता बल्कि सफर के दौरान धूल, धुआं और धक्के भी खाने पड़ते हैं। इससे ना केवल शारीरिक व मानसिक पीड़ा होती है बल्कि वाहनों को भी नुकसान पहुंचता है।

रोड पर रोड़ों की भरमार

नारनौल से दादरी तक इस हाइवे पर जितने भी मुख्य बस अड्डे हैं, सब पर हालात खराब हैं। नारनौल से निकलते ही लहरोदा व पहाड़ी के समीप, फैजाबाद चौकी, हुडीना से निकलकर नहर के समीप, नांगल सिरोही में प्रवेश से लेकर निकासी तक यानि गांव में पड़ने वाला संपूर्ण हिस्सा, जोनावास अड्डे के समीप नहरी की पुलिया पर, महेंद्रगढ़ शहर के संपूर्ण हिस्से में, आकोदा, बधवाना, आमदुपर व मंदौला में तो सड़क अपना अस्तित्व ही खो चुकी है। रोड़े इधर-उधर बिखर चुके हैं और लंबे चौड़े तथा गहरे गड्ढे बन चुके हैं। इन गड्ढों में बारिश का पानी जमा है, जहां पानी नहीं है वहां कीचड़ बना हुआ है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser