आत्मनिर्भर निधि योजना / रेहड़ी संचालकों को मामूली ब्याज दर पर लोन देने की तैयारी, पीएम स्ट्रीट वेंडर पॉलिसी के तहत होगा सर्वे

X

  • लॉकडाउन के चलते गड़बड़ाई व्यवस्था को संभालने के लिए नगर परिषद ने बनाया प्लान

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 07:54 AM IST

नारनौल. प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत शहर में रेहड़ी लगाने वालों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्हें 10 हजार रुपए ऋण दिया जाएगा। बिना गारंटी मिलने वाले इस लोन पर ब्याज दर भी मामूली रहेगी। नगर परिषद इस संबंध में रेहड़ी संचालकों की सूची बनाकर उनमें से ऋण लेने के इच्छुक लोगों का सर्वेक्षण करवाएगी। 

जानकारी के अनुसार कुछ माह पूर्व करवाए गए सर्वे में शहर में फल, सब्जी, फास्ट फूड समेत अन्य रोजमर्रा का सामान बेचने वाली 750 रेहड़ियां मिली थी। इस बीच कोरोना वायरस के संक्रमण के हालात बने और यूपी, एमपी, छतीसगढ, बिहार, राजस्थान समेत अन्य राज्यों से आए मजदूर व रेहड़ी संचालक वापस अपने घरों को लौट गए।   लॉकडाउन के दौरान गरीबों में बढ़ी बेरोजगारी की समस्या का समाधान करने के लिए सरकार ने प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना प्रारंभ की है।

इसके तहत रेहड़ी लगाने वालों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्हें 10 हजार रुपए ऋण दिया जाएगा। नगर परिषद इस योजना पर अमल करते हुए शहर में नए सिरे से रेहड़ी संचालकों का सर्वे करवाएगी। यह कार्य जल्दी प्रारंभ किए जाने की उम्मीद है। इससे पहले एक कमेटी का भी गठन किया जाना है, जिसमें सब्जी मंडी यूनियन प्रधान, रेहड़ी संचालक यूनियन प्रधान, नगर परिषद कर्मचारी/अधिकारी व बैंक अधिकारी भी शामिल रहेंगे। वे लोन लेने के इच्छुक प्रार्थी के आवेदन व अन्य प्रक्रियाओं को पूरा करवाएंगे।

 बिना शर्त ऋण देने की योजना पर पहले होगा सर्वे, उसके बाद नप व बैंक अधिकारी पूरी कराएंगे प्रक्रिया
इस संबंध में मंगलवार नगर परिषद में चेयरपर्सन भारती सैनी की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस योजना पर प्लानिंग तैयार की गई। पीएम स्वनिधि योजना में पटरी-रेहड़ी वालों को बिना किसी शर्त के साथ लोन दिए जाने के बारे में अवगत करवाया गया।

उन्होंने बताया कि इसमें ऐसे रेहड़ी दुकानदारों को शामिल किया जाएगा, जो लॉकडाउन के दौरान उत्पन्न हुई परिस्थितियों में बेरोजगार हो गए। उनकी बेरोजगारी को दूर करने के लिए सरकार द्वारा उन सभी को अपना काम फिर से शुरू करने के लिए 10 हजार की राशि लोन के रूप में दी जाएगी, जिससे उनकी रोजमर्रा की उत्पन्न हुई बेरोजगारी को खत्म कर के दोबारा से उनके जीवन को खुशहाल बनाया जा सके। इस बैठक में कार्यकारी अधिकारी विजय कुमार, सीएसटी संदीप, सब्जी मंडी यूनियन प्रधान अजित सैनी, रेहड़ी यूनियन प्रमुख लीलाराम, टेकचंद पार्षद और एनयूएलएम की अन्नू भी उपस्थित रहे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना