पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

किसानों की समस्याएं:बाजरे का एक-एक दाना खरीदने के दावों पर उठाया सवाल, किसानों को भेजे जाने वाले मैसेज की संख्या बढ़ाकर अढ़ाई गुणा करने की मांग

नारनौल15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नारनाैल अनाजमंडी में बाजरे की खरीद का जायजा लेते स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष याेगेन्द्र यादव ।

स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने शुक्रवार अटेली व नारनौल अनाज मंडी का दौरा करके यहां चल रहे बाजरा खरीद कार्य का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने अनाज मंडियों में उपस्थित किसानों से बातचीत कर उनकी समस्या सुनी। किसानों की समस्या सुनने के बाद उन्होंने सरकार के बाजरे का एक-एक दाना खरीदने के दावों पर सवाल खड़े कर किसानों को भेजे जाने वाले मैसेज की संख्या बढ़ाकर अढ़ाई गुणा करने की मांग की।

इसके साथ ही उन्होंने किसानों को पिछले माह केंद्र सरकार की ओर से पारित किए गए तीन कृषि विधेयकों को किसान व आढ़ती विरोधी बताते हुए इनके खिलाफ एकजुट होकर आंदोलन करने के प्रेरित किया। उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए बताया कि प्रदेश सरकार ने बाजरे की खरीद के लिए 1 अक्टूबर 15 नवंबर तक तारीख की समय सीमा निर्धारित कर रखी है। आज 16 अक्टूबर हो गया है। ऐसे में सरकार के पास बाजरा खरीद के केवल 30 दिन बचे हैं।

इन 30 दिनों में शनिवार व रविवार की छुट्टी हैं। इस प्रकार बाजरा खरीद के केवल 20 से 22 वर्किंग-डे बचे हैं, जबकि सरकार ने पिछले 15 दिनों में केवल 10 प्रतिशत किसानों का ही बाजरा खरीदा है। ऐसे में यदि बाजरा खरीद की यही रफ्तार चलती रही तो अगले 20-22 दिनों में सरकार शेष 90 प्रतिशत किसानों के बाजरे का एक-एक दाना कैसे खरीद सकती है, यह सोचनीय विषय है। इससे स्पष्ट है कि सरकार बाजरा का दाना- दान खरीदने के नाम पर किसानों को गुमराह कर रही है। उन्होंने कहा कि बाजरा खरीद को लेकर सरकार की मंशा सही है तो मैसेज भेजने की संख्या में अढ़ाई गुणा बढ़ोतरी की जाए तथा बाजरा खरीद की डेडलाइन को 15 नवंबर से बढ़ाकर 30 नवंबर की जाए।

योगेंद्र यादव ने बताया कि नारनौल अनाज मंडी के सरकारी कर्मचारी की जानकारी के मुताबिक नारनौल की अनाज मंडी में बाजरे के लिए करीब 13 हजार किसानों ने मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर अपनी फसलों का रजिस्ट्रेशन करवाया है। बाजरा खरीद कार्य के 15 दिनों में यानि 15 अक्टूबर तक नारनौल अनाज मंडी में 13 हजार में से केवल 1420 किसानों का ही नंबर आया है। वहीं अटेली अनाज मंडी में करीब 10 हजार किसानों ने अपना पंजीकरण करवा रखा है। उन्होंने कहा कि वह आंदोलन सिर्फ सिरसा के किसानों का आंदोलन नहीं है, प्रदेश भर के किसानों का आंदोलन है। सिरसा की तर्ज पर नारनौल व अहीरवाल क्षेत्र के किसानों को भी अनाज मंडी में शांतिपूर्वक धरना देना होगा। इस मौके इंजीनियर तेजपाल यादव, राज्य महासचिव दीपक लांबा, दलीपसिंह, राजबाला, महेश कुमार, मनजीत सिंह एडवोकेट, संजीत एडवोकेट, विजेंद्र सिंह, पीयूष, हरीश मुकंदपुरा भी मौजूद रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें