सड़क सुधार बैठक:बारिश से टूटी सड़कों की 15 दिन में होगी मरम्मत

नारनौल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क सुधार बैठक में बोलते हुए उपायुक्त अजय कुमार। - Dainik Bhaskar
सड़क सुधार बैठक में बोलते हुए उपायुक्त अजय कुमार।
  • नारनौल-महेंद्रगढ़-चरखी स्टेट हाईवे 20 दिन में कराया जाएगा ठीक

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार बारिश के कारण खराब हुई जिला की सड़कों की मरम्मत आगामी 15 दिन के अंदर करवा दी जाएगी। इसके अलावा नारनौल शहर में सीवर लाइन दबाते समय क्षतिग्रस्त हुई सड़कों को भी जल्द ठीक किया जाए। यह निर्देश उपायुक्त अजय कुमार ने बुधवार जिला सड़क सुरक्षा एवं सुरक्षित वाहन पॉलिसी के संबंध में बुलाई एक बैठक में दिए।

इसमें डीसी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि नारनौल-महेंद्रगढ़-चरखी दादरी सड़क मार्ग इस जिला का बहुत ही महत्वपूर्ण सड़क मार्ग है। बारिश के कारण यह सड़क दोबारा से क्षतिग्रस्त हुई है। इसे तुरंत ठीक किया जाए। इस पर पीडब्ल्यूडी विभाग के एक्सईएन ने बताया कि इस स्टेट हाईवे की मरम्मत के लिए बजट बढ़ाने के लिए पत्र लिखा गया है। आगामी 20 दिन के अंदर इस मार्ग को दोबारा से ठीक कर दिया जाएगा। उपायुक्त ने हीरो हौंडा चौक पर भी सड़क को ठीक करने तथा बाईपास पर नांगतिहाड़ी ब्रेकर पर सफेद पट्टी लगाने के निर्देश भी दिए।

डीसी ने बस स्टैंड के सामने रेहड़ियों को निर्धारित सीमा में रखने के लिए एक अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपने के निर्देश दिए। अधिकारी हर रोज यह सुनिश्चित करें कि बस स्टैंड के सामने जाम की स्थिति ना बने। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि मुख्यालय स्तर पर अगर किसी को इन कार्यों के संबंध में डीओ लेटर लिखवाना है तो तुरंत लिखवाए ताकि इस कार्य को निर्धारित समय सीमा में पूरा किया जा सके। डीसी ने कहा कि मुख्यमंत्री के सख्त निर्देश हैं कि बारिश के कारण टूटी सड़कों को दो सप्ताह के अंदर-अंदर दुरुस्त किया जाए।

नारनौल शहर में सुबह 7 बजे की बजाय अब 6 बजे तक ही भारी वाहनों की एंट्री

जिला सड़क सुरक्षा एवं सुरक्षित स्कूल वाहन पॉलिसी समिति की बैठक में क्षेत्रीय प्रादेशिक परिवहन प्राधिकरण की सचिव दर्शना भारद्वाज ने बैठक में नारनौल शहर के अंदर से भारी वाहनों के आवागमन का समय कम करने की बात रखी।

इस पर उपायुक्त ने निर्देश दिए कि नारनौल शहर के अंदर फिलहाल रात 10 से सुबह 7 बजे तक भारी वाहनों की एंट्री है। इसे अब से रात 10 से सुबह 6 बजे तक कर दिया जाए ताकि दुर्घटना का अंदेशा ना रहे। उन्होंने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि तुरंत प्रभाव से नो एंट्री के इस समय का पालन करवाया जाए।

खबरें और भी हैं...