क्राइम:लहूलुहान अवस्था में मिला बीएससी के छात्र का शव पिता व ताऊ ने दो अन्य के साथ मिल की बेटे की हत्या

नारनौलएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • दोस्त की बर्थडे पार्टी में गया था छात्र, गोशाला धोलपोश आश्रम के पास मिला शव, चारों आरोपी गिरफ्तार
  • मृतक के अंतिम संस्कार के बाद देर शाम पुलिस ने साक्ष्य के आधार पर पिता, ताऊ सहित चारों को गिरफ्तार कर लिया

शहर के मोहल्ला सैनीपुरा निवासी युवक विकास की हत्या के मामले में मंगलवार देर शाम पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने मृतक विकास के पिता ईश्वर, ताऊ अनिल व दो अन्य आशुतोष तथा मोहित उर्फ मोंटी को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी देते हुए डीएसपी कुशल सिंह ने बताया कि मृतक के अंतिम संस्कार के बाद साक्ष्य के आधार पर देर शाम पुलिस ने पिता, ताऊ सहित चारों को गिरफ्तार कर लिया है। बुधवार को इन्हें कोर्ट में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा।
शिकायत देने वाला ताऊ ही निकला हत्यारा 
खास दोस्त की बर्थडे पार्टी में जाने की बात कहकर घर से निकले बीएससी के छात्र का शव मंगलवार सुबह गोशाला धोलपोश के पास मिला। पुलिस ने सूचना के आधार पर शव को कब्जे लेकर परिजनों के बयान के आधार पर अज्ञात लोगों पर हत्या का केस दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवा दिया परंतु परिजनों ने हत्यारों का सुराग लगाकर उन्हें गिरफ्तार करने की मांग करते हुए शव को लेने से मना कर दिया और अस्पताल परिसर में ही बैठ गए। इस बात को लेकर पुलिस भी अलर्ट हो गई क्योंकि इस दौरान अस्पताल में काफी संख्या में लोग इकट्ठा हाे गए थे। इस दौरान डीएसपी कुशल सिंह, सदर थाना प्रभारी नवल किशोर, कनीना एसएचओ विनय कुमार भी अस्पताल परिसर में पहुंचे तथा परिजनों को काफी समझाया। 
मृतक के परिजनों के रोष को देखते हुए छात्र के हत्यारों का सुराग लगा लगाने के लिए पहले डीएसपी द्वारा तीन दिन का समय मांगा गया था। बाद में तफ्तीश में जुटी पुलिस ने साइबर सैल की मदद से साक्ष्य जुटाए तो इसमें सामने आया कि घरेलू कारणों के चलते उसके पिता व ताऊ युवक की हत्या का प्लान बना रहे है। इसके बाद पुलिस ने पिता व ताऊ समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

इकलौता पुत्र था मृतक विकास
मोहल्ला सैनीपुरा निवासी लगभग 20-22 वर्षीय बीएससी के छात्र विकास का शव लहूलुहान अवस्था में नगर की गोशाला धोलपोश आश्रम के पास पड़ा मिला। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मौका मुआयना करते हुए शव को कब्जे में लेकर छात्र की हत्या के सुराग जुटाने में जुट गई। इस घटना के बाद से ही मोहल्ले के लोगों में रोष व्याप्त हो गया तथा देखते ही देखते अस्पताल परिसर में सैकड़ों की संख्या में लोग इकट्ठे हो गए तथा घटना के आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तार की मांग पर अड़ गए। पोस्टमार्टम के बाद शव को लेने से इनकार कर दिया तो पुलिस को भी परिजनों को समझाने में काफी पसीना बहाना पड़ा। मृतक विकास अपने पिता का इकलौता पुत्र था, उसकी एक छोटी बहन है।

खबरें और भी हैं...