पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुलोठ अहीर में युवक की मौत का मामला:15 दिन में भी अरविंद की मौत का कारण नहीं टटोल पाई पुलिस, एसपी से मिले परिजन

नारनौलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसपी को ज्ञापन सौंपने आए जखराना के ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
एसपी को ज्ञापन सौंपने आए जखराना के ग्रामीण।

करीब 15 दिन पहले अपनी ससुराल गांव दुलोठ अहीर आए गांव जखराना (राजस्थान) निवासी अरविंद की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत मामले में मृतक के परिजनों ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर अरविंद के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की तथा घटना के 15 दिन बाद भी आरोपियों को गिरफ्तार न करने पर नाराजगी भी जताई। परिजनों ने बताया कि घटना वाले दिन अरविंद ने ससुराल से फोन पर अपने घर बताया था कि ससुराल वालों ने उससे बुरी तरह मारपीट की है तथा जान से भी मार सकते हैं। जिसकी ऑडियो रिकार्डिंग उनके पास हैं, इसके बावजूद पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है।

इस अवसर पर जखराना निवासी बहादुर सिंह ने शुक्रवार को एसपी चंद्रमोहन को सौंपे अपने ज्ञापन में बताया है कि उसके लड़के अरविंद को ससुराल पक्ष के लोगों ने फोन कर 4 जून को साजिश के तहत दुलोठ अहीर बुलाया था। ससुराल पक्ष के बुलाने पर उसका लड़का अरविंद अपनी ससुराल गांव दुलोठ अहीर आया था।

यहां पर उसके ससुर भूप सिंह, सास सुनीत, पत्नी मनीषा, सुमन, कश्मीरा पुत्र भगवाना, भूप की साली रामभोत ने एक साजिश के तहत उसके लड़के की हत्या कर दी। हत्या के बाद ससुराल पक्ष के लोगों ने जहर खाकर आत्महत्या करने की मनगढंत कहानी बना मामले को दूसरा रुप देने का प्रयास किया है। पीड़ित ने बताया कि अरविंद की शादी 2016 में दुलोठ अहीर निवासी मनीषा के साथ हुई थी।

शादी के कुछ दिन बाद से ही पति-पत्नी में किसी बात को लेकर अनबन रहने लगी थी। इसके चलते जब-जब अरविंद अपनी ससुराल आया था, तब-तब ससुराल पक्ष के लोगों ने अरविंद से मारपीट की है। घटना वाले दिन भी अरविंद ने फोन कर उन्हें बताया था कि ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे बुरी तरह पीटा है और जान भी ले सकते हैं।

जिसकी ऑडियो रिकार्डिंग की क्लिप उनके पास मौजूद है। इन जाहिर है कि अरविंद की हत्या की गई है। इसलिए पुलिस प्रशासन से आग्रह है कि इस मामले में नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे सख्ती से पूछताछ की जाए, ताकि अरविंद की मौत के मामले का खुलासा हो सके।

घर में रोटी के भी लाले

मृतक के परिजनों ने बताया कि परिवार में अरविंद इकलौता कमाने वाला था। अरविंद का बड़ा भाई मानसिक रूप से कमजोर है तथा पिता हार्ट के मरीज हैं। ऐसे में अरविंद की मौत के बाद इस परिवार के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है। अरविंद 4 जून को ससुराल दुलोठ अहीर आया था। यहां संदिग्ध परिस्थितियों में अरविंद की मौत हो गई थी। उस समय ससुराल पक्ष के लोगों का कहना था कि अरविंद ने जहर खाकर आत्महत्या की है।

खबरें और भी हैं...