• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Narnaul
  • The Process Of Charity And Charity Went On Throughout The Day, The Idol At Mata Sati Dham In Dohar And The Establishment Of A Temple In Kojinda Village

मकर संक्रांति:दिनभर चला दान-पुण्य का सिलसिला, डोहर में माता सती धाम पर मूर्ति व कोजिंदा गांव में मंदिर की स्थापना

नारनौल10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जरुरतमंदों को गर्म वस्त्र व खाद्य सामग्री वितरित की, गायों को भी किया तृप्त

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव ने मकर सक्रांति पर्व पर गांव कोजिंदा में मंदिर स्थापना मुहूर्त व महायज्ञ में भाग लिया। उन्होंने इसके लिए अपने आपको गौरवान्वित बताते हुए कहा कि मंदिर हमारी संस्कृति का आधुनिक प्रतीक तथा हमारी आस्था व राष्ट्रीय भावना के प्रतीक हैं। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति दिन प्रतिदिन मंदिर जाता है तो उस पर किसी प्रकार के संकटों का प्रभाव नहीं पड़ता।

मनुष्य को मंदिर जाने से मन में विश्वास और आत्मबल का संचार होता है। कलयुग में मनुष्य भगवान व मंदिरों से दूर चला गया इसीलिए संकटों से घिरा रहता है। उन्होंने मंदिर निर्माण में अपने निजी कोष से आर्थिक सहयोग भी किया व भंडारे में प्रसाद ग्रहण किया। बाद में उन्होंने मांदी रोड पर स्थित महाराज राजगीरी के रेडाजोरी स्वर्ग आश्रम शहर में बगीची शिव मंदिर में मकर सक्रांति पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लिया। मकर संक्रांति पर्व पर गांव डोहर में माता सती धाम पर मूर्ति स्थापना हुई। इस मौके पर सुबह हवन कर एवं कलश यात्रा निकाली गई। पंडित मनोज कुमार शर्मा और महेश कुमार शर्मा ने हवन करवा विधिवत मूर्ति स्थापना करवाई।

मकर संक्रांति पर्व पर बिमला देवी मेमोरियल सेवा समिति, गहली द्वारा शुक्रवार को गांव के खेल के मैदान व श्मशान घाट में पौधरोपण किया गया। समिति के संचालक प्रवक्ता धर्मसिंह ने पौधरोपण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके बाद समिति सदस्यों ने नीम, बरगद, पीपल व बेलपत्र के पौधे लगाए। सरपंच नरेश कुमार ने कहा कि पर्यावरण के लिए वनों का योगदान अमूल्य है। मास्टर कुलपति सिंह ने कहा कि हमारे देश में इस प्रकार के धार्मिक पर्वों पर समाज सेवा की परम्परा सदियों पुरानी है। हम सभी को मिलकर वन क्षेत्र को बढ़ाने में योगदान देना चाहिए।

राज्यमंत्री की पत्नी ने अंध विद्यालय में छात्राओं के साथ मनाई मकर सक्रांति

राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव की पत्नी सुमन यादव ने अंध विद्यालय में छात्राओं को गर्म वस्त्र व मिठाई खिलाई। इस मौके पर उनकी पुत्रवधू तन्नु यादव व पोते दक्ष यादव, अंध विद्यालय की प्राचार्या कांता गांधी, महावीर प्रसाद शर्मा व ममता शर्मा भी मौजूद रहे।

उपचार गोशाला में किया हवन

नर नारायण सेवा समिति के प्रधान बेगराज गोयल की अध्यक्षता में उपचार गोशाला में सभी प्राणियों की सुख शांति, समृद्धि, स्वास्थ्य लाभ के लिए हवन किया गया, जिसमें मुख्य यजमान धर्मपाल शर्मा व उनकी धर्मपत्नी संतोष शर्मा, वरिष्ठ नागरिक संगठन के जिला प्रधान दुलीचंद शर्मा एवं उनकी धर्मपत्नी संतोष शर्मा रहे।

रामसिंह मधुर ने हवन-यज्ञ करवाया। कृष्णा आर्य ने कर लो सभी से प्यार, कोई नहीं है पराया तुम मे राम मुझ में राम गीत गाया। इस मौके पर श्याम सुन्दर शर्मा, शिवलाल वर्मा, परमानंद दिवान संरक्षक,भारत भूषण तायल के नेतृत्व में गो उपचार के लिए दवाइयां भेंट की गईं। मुख्य वक्ता सुमेरसिंह यादव, परषोत्तम आर्य, धर्मपाल शर्मा,, प्रधान बेगराज गोयल ने अपने विचार रखे।

मकर संक्रांति का भारतीय संस्कृति में महत्वपूर्ण स्थान : प्रो. टंकेश्वर कुमार

हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय के योग विभाग और योग ट्रैकिंग एवं एडवेंचर क्लब की ओर से मकर सक्रांति के पावन पर्व पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार के नेतृत्व व मार्ग दर्शन में आयोजित इस कार्यक्रम का उद्देश्य विद्यार्थियों - शाेधार्थियों, शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों सहित जन सामान्य को प्रकृति के परिवर्तन शील स्वरूप का मानव जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है? उसके अवगत कराना तथा योग इस प्रभाव को कैसे मानव जीवन के अनुकूल बनाने में मदद करेगा? उस पर विचार करना था।

कार्यक्रम के समन्वयक डॉ.अजय पाल ने सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया। राष्ट्रीय वेबिनार के मुख्य वक्ता के रूप में अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त योग साधक एवं शिक्षक डॉ. चरत निर्बन ने कहा कि मानव स्वाभाविक रूप से उन सबके लिए उदासीन रहता है जो उसके पास है और उसके लिए भागता रहता है जो उसके पास नहीं है।

खबरें और भी हैं...