अभियान:मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए संडे को मनाएं ड्राई-डे

नारनौल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिविल में डेंगू बुखार की जांच व इलाज नि:शुल्क

यह एक महीना मलेरिया-डेंगू का सीजन है। इसमें चिकित्सा अधिकारी इलाज के लिए आने वाले सभी मरीजों तथा उनके तीमारदारों को मच्छरों से बचाव के तरीके भी बताएं। साथ ही उन्हें हर रविवार को ड्राई-डे के रूप में मनाने के लिए प्रोत्साहित करें। इस तरह स्वास्थ्य विभाग विभिन्न स्तर पर एक साथ काम करते हुए इस पर रोक लगाएगा।

ये निर्देश सिविल सर्जन डाॅ. अशोक कुमार ने अपने कार्यालय में डेंगू बुखार के संबंध में चिकित्सकों की बैठक में दिए। उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 में 7 केस डेंगू के आए थे तथा वर्ष 2021 में अब तक 101 डेंगू के केस आ चुके हैं। यह आंकड़ा बहुत अधिक है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग का हर अधिकारी व कर्मचारी अपने-अपने स्तर पर लोगों को इससे बचाव के लिए जागरूक भी करें। लोगों को थोड़ा भी लक्षण दिखे तो तुरंत जांच की सलाह दें। उन्होंने निर्देश दिए कि हर मरीज का पूरा ब्यौरा रखा जाए।

इस मौके पर चिकित्सा अधीक्षक आशा शर्मा व जीव वैज्ञानिक डाॅ. परमानंद ने बताया कि कोई भी बुखार डेंगू हो सकता है। इसलिए बुखार आने पर सबसे पहले अपने खून की जांच करवाएं व पूरा इलाज लें। नागरिक अस्पताल नारनौल में डेंगू बुखार की जांच व इलाज के लिए पूरी सुविधा निशुल्क है।

उन्होंने आम नागरिकों से आह्वान किया है कि वे रविवार को ड्राइ-डे के रूप में मनाए। हमें एकजुट होकर केस बढ़ने से रोकना है। इस मौके पर मलेरिया विभाग से मुकेश कुमार, लैब टेक्नीशियन नफे सिंह व हेल्थ सुपरवाइजर मौजूद थे।

सकोरे, गमले व टंकी के पानी को हर हफ्ते बदलें

डेंगू से बचाव के लिए अपने घरों के आसपास पानी इकट्ठा न होने दें। पानी में ही मच्छर का लार्वा पैदा होता है। सप्ताह में एक बार कूलर, पानी की टंकी, गमले व पछियों के पानी पीने के बर्तन आदि पानी के स्रोतों की सफाई अवश्य करें।

घर की छतों पर कबाड़, टायर व मटका आदि न रखें। बरसात के दिनों में इनमें पानी भर जाता है और मच्छर पैदा हो जाते हैं। इससे बचने के लिए पूरी बाजू के कपड़े पहने। मच्छरदानी व मच्छर नाशक दवाईयों का प्रयोग करें। अपने घर की खिड़कियों पर जाली लगवाएं।

खबरें और भी हैं...