कार्रवाई / चाेरी से एसी-कूलर चलाते 156 पकड़े, 32 लाख रुपए ठोका जुर्माना

X

  • अनलॉक 1.0 के एक माह में बिजली निगम ने राजस्व बढ़ाने के लिए बिजली चोरी पकड़ने पर किया फोकस

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

रोहतक. अनलॉक 1.0 के एक माह बीत चुका हैं और बिजली निगम ने शहरों के साथ-साथ ग्रामीण एरिया में भी बिजली चोरी पकड़ने पर फोकस कर दिया है। एक माह के अंतराल में एसई एसके बंसल के निर्देशन में सब अर्बन नंबर एक के एक्सईएन भूपेंद्र सिंह की अगुवाई में गठित एसडीओ की छापामार टीम ने लगातार चेकिंग ड्राइव चलाया। सब अर्बन नंबर एक के अंतर्गत आने वाले सब डिवीजन के एसडीओ बताते हैं कि एक माह में महम, कलानौर, खरक, काहनौर सहित अन्य कई गांवों में चेकिंग के दौरान चोरी की बिजली से दोपहर में एसी व कूलर चलते हुए पाए गए।

कई घरों में कुंडी लगाकर और केबल में टेंपरिंग करके बिजली चोरी करते पाए गए। बिजली चोरी के दोषी पाए गए 156 उपभोक्ताओं पर नियमानुसार 32 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। दोषी पाए गए 156 उपभोक्ताओं से जुर्माना राशि की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। एसई एसके बंसल ने बताया कि शहर हो या ग्रामीण चेकिंग टीम लगातार ड्राइव चला रही है। बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं को बख्शा नहीं जाएगा। इसलिए सभी उपभोक्ताओं से अपील है कि वो बिजली चोरी करने की बजाय मीटर पर स्वीकृत लोड के अनुसार ही बिजली खर्च करें और समय पर बिल जमा कराएं। 

ओवरलाेडिंग झेल रहे चमारिया फीडर का लोड घटाकर नसीरपुर फीडर पर ट्रांसफर किया
बिजली निगम के शेड्यूल में जून और जुलाई का महीना पैडी सीजन माना जाता है। इन दो माह में खेतों में फसल लगाने के दौरान पानी की अधिक खपत होती है। एेसे में लगातार ट्यूबवेल चलते रहने से फीडर पर लोड बढ़ जाता है। ऐसी ही ओवरलोडिंग की समस्या चमारिया गांव के फीडर पर आ रही थी। ओवरलोड की समस्या अक्सर फाल्ट आने से बिजली कट की समस्या हो जाती है। एसई एसके बंसल के निर्देशन में सब अर्बन नंबर एक के एक्सईएन भूपेंदर सिंह ने मंगलवार को चमारिया गांव के फीडर पर 130 एंपीयर के लोड को दो हिस्सों में बांटते हुए एक नया फीडर नसीरपुर गांव में स्थापित करा दिया।

दो फीडर किए स्थापित
अब नई व्यवस्था के तहत चमारियां गांव और नसीरपुर गांव में 11-11 केवी के दो फीडर स्थापित कर दिया गया है। अब दोनों फीडरों पर 65-65 एंपीयर का लोड रहेगा। इससे एक फीडर पर ओवरलोड की समस्या नहीं बनेगी और किसानों को फसल लगाने के दौरान बिजली कट से पानी की समस्या नहीं झेलनी होगी। अधिकारी बताते हैं कि चमारिया गांव के फीडर पर औसतन साढ़े चार सौ ट्यूबवेल कनेक्शन हैं। पैडी सीजन में ये ट्यूबवेल लगातार चल रहे हैं जिसकी वजह से ओवरलोडिंग की समस्या बन रही थी जिसका अब समाधान कर दिया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना