बैठक:171 लोकल कमेटी बनाएंगी पहचान पत्र, आय प्रमाणिकता के लिए लोकल कमेटी सदस्यों की बैठक आयाेजित

रोहतकएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोकल कमेटी में अधिक से अधिक 5 और कम से कम 3 सदस्य होंगे
  • राज्य मुख्यालय से आए मास्टर ट्रेनर नितिन ने लोकल कमेटी सदस्यों को प्रशिक्षण दिया

सरल पोर्टल के माध्यम से मिलने वाली सभी सेवाओं को परिवार पहचान पत्र से जोड़ दिया गया है। प्रदेश में सभी परिवारों का प्रामाणिक, सत्यापित और विश्वसनीय डेटा तैयार करना इसका मुख्य उद्देश्य है। मंगलवार को जिला विकास भवन के सभागार में आयोजित आय प्रमाणिकता के लिए लोकल कमेटी सदस्यों के प्रशिक्षण सत्र को संबोधित करते हुए एडीसी महेंद्रपाल ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि सरकार की ओर से अब सरल पोर्टल के माध्यम से मिलने वाली सभी सेवाओं को परिवार पहचान-पत्र से जोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि जिले में 814 कमेटियां गठित होनी हैं, जिसमें से अब तक कुल 171 लोकल कमेटियों का गठन किया जा चुका है। एडीसी ने कहा कि जिले भर में इन कमेटियों की ओर से लोगों के पहचान पत्र बनाने में पूरा सहयोग मिलेगा। पहचान पत्र बनाने की इन्हें जिम्मेदारी सौंपी है।

लोकल कमेटी में अधिक से अधिक 5 और कम से कम 3 सदस्य होंगे

आय प्रामाणिकता के लिए एक लोकल कमेटी में अधिक से अधिक 5 और कम से कम 3 सदस्यों का होना आवश्यक है, जिसमें एक टीम लीडर, एक डेटा एंट्री ऑपरेटर, एक वॉलंटियर, एक सोशल वर्कर व एक कॉलेज छात्र शामिल है। रोहतक खंड के 150 से अधिक लोकल कमेटी सदस्यों ने भाग लिया। राज्य मुख्यालय से आए मास्टर ट्रेनर नितिन ने लोकल कमेटी सदस्यों को प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण उपरांत लोकल कमेटी सदस्यों के लिए सवाल-जवाब का सत्र भी किया। डीएमसी हरदीप सिंह, डीईओ डॉ. विजय लक्ष्मी नांदल, सीएमजीजीए शैलेट जोस, बीडीपीओ राजपाल चहल, जिला नोडल अधिकारी डॉ. विनोद धनखड़ व सुमित बेनीवाल व सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. दिनेश भी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...