हाईवे की सौगात:800 करोड़ की लागत से बन कर तैयार 334बी हाईवे, 26 जनवरी तक होगा शुरू

बहादुरगढ़\ रोहतक10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
334बी हाईवे पर टोल प्लाजा बनकर तैयार। - Dainik Bhaskar
334बी हाईवे पर टोल प्लाजा बनकर तैयार।

रोहतक का हिस्सा रहे सोनीपत, झज्जर बहादुरगढ़ भले ही अब अलग जिले हैं,आज भी रोहतक आने-जाने में कई-कई सड़कों को बदलना पड़ता है पर अब एक सीधी सड़क तीनों जिलों को फिर से जोड़ देगी। इस सड़क का 95 फीसदी काम पूरा होने के साथ ही बहादुरगढ़ को तीन शहरों को तो जोड़ेगी वहीं इसके साथ लगते करीब पचास गांवों को शहर का एहसास मिल जाएगा। इस सड़क पर रेलवे लाइनों पर इस तरह से पुल तैयार हो रहे हैं कि लोग उन्हें देखते रह जायेंगे। 26 जनवरी से पहले ही लोगों को इस सड़क तोहफा मिलेगा।

नए साल में राजस्थान से यूपी,हरियाणा और उत्तराखंड का सफर होगा फर्राटेदार होगा। एनएच 334बी सड़क का काम जनवरी में पूरा हो जाएगा। एनएच 334बी यूपी के बागपत से शुरू होकर और हरियाणा में खत्म होगा। यह नेशनल हाईवे एनएच 44 को भी जोड़ता है, जिससे राजस्थान के लोगों को चंडीगढ़, पंजाब और हिमाचल की यात्रा आसान हो जाएगी। एनएच-334बी के निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए एनएचएआई की ओर से 800 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे रहे हैं।

सांपला-बहादुरगढ़ व राेहतक के बाहर से कनेक्टिविटी शुरू हा़े जाएगी: बहादुरगढ़-सोनीपत से बहादुरगढ़ की सीमा व सांपला तक 45 किमी लंबे बाईपास से सोनीपत, सांपला, रोहतक व व बहादुरगढ़ के शहर इस तरह से जुड़ जाएगा। इससे करीब 50 गांवों को शहर जैसा रुतबा मिलेगा। तीन शहरों की सूरत चमेकेगी। इसके लिए 95 फीसदी काम पूरा हो चुका है।

अब रेलवे लाइनों पर ब्रिज भी अंतिम चरण में है हैं। इस भव्य सड़क को देखने के लिए भी लोग पहुंचने शुरू हो गए हैं। इस तरह से सांपला,बहादुरगढ़ व रोहतक के बाहर से होगी कनेक्टिविटी शुरू हो जाएगी। प्रोजेक्ट नेशनल हाईवे अथॉरिटी रोहतक व भिवानी के अधिकारियों की देखरेख में कार्य किया जा रहा है। सबसे अधिक स्पीड से काम खरखौदा रोहट में चल रहा है।

रिंग बाईपास बनने से वाहन चालकाें काे मिलेगा फायदा
दिन में 20 हजार से अधिक वाहन चालकों को मिलेगा फायदा रिंग बाईपास बनने से 24 घंटे में 50 हजार से अधिक वाहन चालकों को फायदा मिलेगा। केवल दिन में ही 20 हजार से अधिक वाहनों को जीटी रोड से जींद जाने वाले या फिर खरखौदा व रोहतक जाने वाले वाहन को शहर के ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिलेगी। इसकी लंबे समय से मांग की जा रही थी। यमुना ब्रिज से शुरू हुआ था काम एनएच 334बी के लिए मेरठ रोड पर जिले के गांव पलड़ी से रोहतक रोड के रोहट गांव तक बाईपास के लिए अधिग्रहण किया गया था।

यह बाईपास बहालगढ़ के ऊपर से होते हुए रोहट गांव के पास रोहतक रोड पर मिलेगा। ताकि भारी वाहन जो मेरठ से लोहारू के लिए निकलेंगे, उसका प्रवेश सोनीपत व सांपला रोहतक के साथ-साथ साथ बहादुरगढ़ की तरफ से नहीं हो। एनएच का निर्माण होने से सोनीपत, रोहतक, बहादुरगढ़ व भिवानी के लोगों को फायदा होगा।

राेहट व झराेठ में भी बाईपास का निर्माण किया जा रहा है: एनएच 334बी के लिए मेरठ रोड पर गांव पलड़ी से रोहतक रोड के रोहट गांव तक बाईपास के लिए जमीन अधिग्रहण किया गया है। यह बाईपास बहालगढ़ के ऊपर से होते हुए रोहट गांव के पास रोहतक रोड पर मिलेगा। ताकि भारी वाहन जो मेरठ से लोहारू के लिए निकलेंगे, उसका प्रवेश सोनीपत शहर में नहीं हो। एनएच का निर्माण होने से सोनीपत, रोहतक, झज्जर, चरखीदादरी के लोगों को फायदा होगा। वाहन चालक यूपी से राजस्थान तक आसानी से आवागमन कर सकेंगे।

800 करोड़ की लागत से बन कर तैयार हुआ 334बी हाईवे का अंतिम चरण में है। 26 जनवरी तक इसे आमजन के लिए खोला जाना है। सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। ट्रायल भी लगातार चल रहे है। इससे राजस्थान से उत्तर प्रदेश और हरियाणा का सफर अब और भी आसान हो जाएगा। - धर्मबीर शर्मा, एजीएम प्रोजेक्ट, 334बी हाईवे।

खबरें और भी हैं...