प्रशासन का दावा / तनाव न हो इसलिए श्रमिकों की करवाते रहे काउंसिलिंग, अब तक 11715 प्रवासियों को अपनों तक पहुंचाया

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:54 AM IST

रोहतक. कोरोना वायरस (कोविड-19)के संक्रमण से बचाव हेतु लागू किए गए लाॅकडाउन के दौरान जिले में फंसे 11,715 श्रमिकों व कामगारों को सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन ने स्पेशल ट्रेनों और बसों के जरिए उनके घर अपनाें तक पहुंचाया है। श्रमिकों को मानसिक तनाव न हो, इसके लिए उनकी समय समय एक्सपर्ट के जरिए काउंसिलिंग भी कराई जाती रही। यह जानकारी शुक्रवार को डीसी आरएस वर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि प्रशासन द्वारा प्रवासी श्रमिकों के ठहरने, खाने व अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने के पुख्ता प्रबंध किए गए। इन प्रवासी मजदूरों को उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, बिहार, उत्तराखंड, जम्मू एंड कश्मीर व केरल में भेजा गया है। इनमें से 9195 प्रवासी मजदूरों को जिला प्रशासन द्वारा विशेष बसों के माध्यम से उनके घर राज्य में पहुंचाया गया जबकि 2520 प्रवासी मजदूरों को श्रमिक ट्रेन व विशेष ट्रेनों के माध्यम से उनके घर भेजा गया। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से लॉक डाउन के दौरान जिले में फंसे प्रवासी मजदूरों व कामगारों के रहने के लिए आश्रय स्थल बनाए गए थे, जिनमें सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है। इन श्रमिकों को शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रखने के लिए योगा का भी अभ्यास करवाने के साथ आश्रय स्थलों में फिजियोथैरेपिस्ट की व्यवस्था भी की गई थी।

 इन राज्यों के भेजे प्रवासी

उत्तर प्रदेश             8963
मध्य प्रदेश             1455
पंजाब                  16
राजस्थान               16
बिहार                   1112
उत्तराखंड               134
जम्मू एंड कश्मीर       18
केरल                    1

महम से अप्रवासी मजदूरों को भेजा शेल्टर होम :

महम | महम-रोहतक रोड स्थित रविदास मंदिर में ठहरे लगभग 50 मजदूरों को रोडवेज से रोहतक के गाैड़ ब्राह्मण आयुर्वेदिक चिकित्सा संस्थान के शेल्टर होम में भेजा गया। प्रवासी मजदूर गुरुवार को मंदिर में पहुंचे थे। मंदिर कमेटी की ओर से इनके खाने की व्यवस्था की गई थी। शनिवार को कमेटी प्रधान अनिल कुमार उर्फ बिंटू ने एसडीएम अभिषेक मीणा को मजदूरों के रुके होने की सूचना दी। एसडीएम मीणा ने सूचना मिलते ही मजदूरों को शेल्टर होम में भेजने के लिए रोडवेज बस की व्यवस्था करवाई। एसडीएम मीणा ने कहा कि किसी भी अप्रवासी मजदूर को परेशान नहीं होने दिया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना