पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Court's Decision On Jail Transfer Petition Of Six Murder Accused Sukhwinder: Accused Sunaria Will Remain In Jail, SP DC Will Ensure His Security

रोहतक का बहुचर्चित जाट कॉलेज अखाड़ा हत्याकांड:कोर्ट का फैसला-यहीं जिला जेल में ही रहेगा 6 लोगों की जान लेने वाला सुखविंद्र, DC और SP करेंगे सुरक्षा सुनिश्चित

रोहतक11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छह हत्याओं का आरोपी सुखविंद्र। - Dainik Bhaskar
छह हत्याओं का आरोपी सुखविंद्र।

रोहतक के 7 महीने पुराने बहुचर्चित हत्याकांड के मामले में बुधवार को कोर्ट ने कड़ा फैसला दिया है। अपनी जान को खतरा बताने वाला 6 लोगों की जान लेने का आरोपी कोच सुखविंद्र यहीं रोहतक की जिला जेल में ही रहेगा। कोर्ट ने दूसरी जेल में शिफ्ट करने संबंधी उसकी याचिका को खारिज करते हुए रोहतक के डिप्टी कमिश्नर और पुलिस अधीक्षक को आरोपी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

जाट कॉलेज के अखाड़े में 12 फरवरी 2021 को कोच सुखविंद्र ने मुख्य कोच मनोज समेत 6 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृतकों में मुख्य कोच मनोज के अलावा, उसकी पत्नी साक्षी, 3 साल का बेटा सरताज, कोच प्रदीप, सतीश और यूपी की मथुरा निवासी पूजा शामिल थे। पुलिस ने आरोपी कोच सुखविंद्र और उसको हथियार उपलब्ध कराने वाले मनोज को गिरफ्तार किया है। मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रहा है।

इस मामले की 21 सितंबर को रोहतक कोर्ट में बेहद अहम सुनवाई होनी है। इस सुनवाई में आरोपी सुखविंदर पर आरोप तय हो सकते हैं, लेकिन कोर्ट कार्रवाई को आगे बढ़ाने में मदद और ट्रायल में देरी हो, इसके लिए आरोपी ने गेम खेली है। आरोपी सुखविंदर ने अपने वकील के जरिए कोर्ट में सुरक्षा याचिका दायर की है, जिसमें उसने सुनारियां स्थित जिला जेल में अन्य कैदियों से खुद की जान का खतरा बताते हुए करनाल या भौंडसी जेल में ट्रांसफर किए जाने की मांग की है। आरोपी सुख‌विंदर ने यह याचिका मंगलवार यानि 7 सितंबर को दायर ‌की थी। इसकी सुनवाई 8, 9 व 13 और फिर 14 सितंबर को हुई। इसमें आज फैसला आया है।

हालांकि जेल प्रशासन ने कोर्ट को यह जबाब दिया था कि आरोपी को अलग बैरक में पूरी सुरक्षा के साथ रखा गया है। उसे वहां पर किसी भी प्रकार से जान का खतरा नहीं है। इसके अलावा रोहतक पुलिस भी उसकी जेल ट्रांसफर पर अपना यह जबाब दे चुकी है कि आरोपी को दूसरे जिले से रोहतक कोर्ट में लाने के लिए सुरक्षा संबंधी अनेकों कठ‌नाइयां पुलिस को झेलनी पड़ेगी। इन सब पहलुओं के अलावा अन्य बिंदुओं को सुनते हुए कोर्ट ने बुधवार को यह फैसला सुनाया है।

आरोपी हुआ अपने गेम में फेल, अब 21 सितंबर का इंतजार
मामले में शिकायतकर्ता पक्षों की ओर से पैरवी कर रहे एडवोकेट जय हुड्डा का कहना है कि आरोपी सुखविंदर के अनुसार, सुनारिया जेल में मोखरा, मांडौठी आदि क्षेत्रों के कैदी भी बंद है। इन क्षेत्रों के दो लोगों की हत्याओं का उस पर आरोप है, जिसके चलते जेल में बंद इन कैदियों से उसे अपनी जान का खतरा है। इसलिए उसे यहां से करनाल एवं भौंडसी जेल में ट्रांसफर किया जाए। एडवोकेट हुड्डा के मुताबिक, आरोपी ने 21 सितंबर को होने वाली आगामी सुनवाई के चलते यह गेम खेली, जिसमें वह फेल हो गया। अगर किसी भी कारण के चलते उसे यहां से ट्रांसफर किया जाता तो तारीख पर कोर्ट में लाने और ट्रायल में देरी होनी लाजमी होगी, जिसके चलते तारीख आगे बढ़ने की भी संभावना भी रहती।

खबरें और भी हैं...