पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कृषि कानून विरोध:किसानों का ऐलान- 9 काे सीएम सिटी व 26-27 को घेरेंगे दिल्ली

रोहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तीन कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ नारेबाजी करते किसान।

प्रभात भवन में बैठक कर हरियाणा के 34 किसान संगठनों ने अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले प्रदेश में तीनों कृषि संबंधित कानूनों के खिलाफ संघर्ष तेज करने का फैसला लिया। बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय वर्किंग ग्रुप के सदस्य प्रेम सिंह गहलावत, सत्यवान और योगेंद्र यादव ने की।

सभी संगठनों ने सर्वसम्मति से तय किया कि केंद्र सरकार की ओर से लादे गए यह कानून खेती किसानी में कंपनी राज भुलाने की कोशिश है और हर किसान संगठन को अपनी पूरी ताकत लगाकर सरकार को इन्हें वापस लेने पर मजबूर करना चाहिए। अगले महीने 26 और 27 नवंबर को इन तीन कानूनों के खिलाफ दिल्ली चलो के आह्वान को स्वीकार करते हुए राजधानी को घेरने का फैसला लिया। इस दौरान राज्य में किसानों को इस मुद्दे पर जागृत करने के अनेक कार्यक्रम चलाए जाएंगे।

हरियाणा दिवस 1 नवंबर को प्रदेश के कोने-कोने से किसान जत्थे रवाना होंगे। गांव गांव जाकर किसानों को इन कानूनों के खेती किसानी पर पड़ने वाले दुष्परिणाम के बारे में चेताया जाएगा। 9 नवंबर को सीएम सिटी करनाल में प्रदेशभर से किसान हरियाणा सरकार को चुनौती देंगे। सभी संगठनों ने प्रदेश में जगह-जगह पर इन कानूनों के खिलाफ चल रहे धरने प्रदर्शन और मोर्चा का समर्थन किया। इनमें सिरसा में चल रहा “पक्का मोर्चा” और जींद, उचाना, ढाणी गोपाल, कंडेला, गढ़ी दात सिंह, रतिया, असंध और करनाल में चल रहे अनिश्चितकालीन धरने शामिल है।

किसानों के खिलाफ झूठे केस करने की निंदा की
अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने इन सब धरनों को सफल बनाने और प्रदेश में अन्य स्थानों पर भी पक्का मोर्चा या धरना लगाने की अपील की। बैठक में पारित एक प्रस्ताव में पराली जलाने के सवाल पर सरकार की ओर से अपनी जिम्मेदारी निभाएं। सरकार से मांग की गई कि दाना-दाना खरीद के अपनी घोषणा के मुताबिक प्रदेश में फसल की खरीद की जाए। प्रदेश में प्रदर्शन कर रहे किसानों के विरुद्ध दमन और झूठे मुकदमे बनाने की भी निंदा की गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें