प्रॉपर्टी में फ्रॉड:जहरीला पदार्थ खाकर दी जान, सुसाइड नोट में महिला समेत 2 को ठहराया जिम्मेदार, केस दर्ज

रोहतक3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गढ़ी माजरा में बलजीत ने जहरीला पदार्थ निगल कर सुसाइड कर लिया।(प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर) - Dainik Bhaskar
गढ़ी माजरा में बलजीत ने जहरीला पदार्थ निगल कर सुसाइड कर लिया।(प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

गढ़ी माजरा में बलजीत ने जहरीला पदार्थ निगल कर सुसाइड कर लिया। पुलिस को बलजीत के पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ। सुसाइड नोट में बलजीत ने देव कॉलोनी के मां-बेटे को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया। पुलिस के मुताबिक सुसाइड नोट में बलजीत ने लिखा कि उसने देव कॉलोनी के सोनू और उसकी मां चंद्र से एक प्लॉट ओमपति को 2012 में दिलवाया था। इस दौरान ओमपति ने 28 लाख 35 हजार रुपये चंद्र को दिए थे।

चंद्र और उसके बेटे ने फुल पेमेंट एग्रीमेंट बनवाकर ओमपति को दे दिया था। उस समय रजिस्ट्री बंद होने के कारण रजिस्ट्री नहीं हो पाई थी। आरोप है कि अब चंद्र और सोनू ने मिलकर वह पलट किसी अन्य व्यक्ति को बेच दिया। इस करण पिछले कुछ समय से वह परेशान चल रहा था। थाना आईएमटी पुलिस ने इस मामले में बलजीत के बेटे रोहित के बयान पर मां-बेटे के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। गढ़ी माजरा के रोहित ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनके पिता ने 1 जनवरी को जहरीला पदार्थ खा लिया था।

उन्हें उपचार के लिए पीजीआई में भर्ती करवाया गया। इसके बाद शहर के एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया।13 जनवरी को उनके पिता को अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी। 14 जनवरी को उनके पिता की मौत हो गई। जब तलाशी ली तो जेब से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ। सुसाइड नोट में उनके पिता ने चंद्र और उनके बेटे सोनू को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। आईएमटी थाना पुलिस प्रभारी कैलाश चंद का कहना कि मामले में केस दर्ज कर लिया गया है। मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी|

खबरें और भी हैं...