शिविंदर सिंह की पत्नी से धोखाधड़ी का मामला:शहर के कारोबारियों से रकम जुटा डाॅली सरदार ने हांगकांग भेजे थे 200 कराेड़ रुपए

रोहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के भिवानी स्टैंड स्थित डॉली सरदार का आवास। - Dainik Bhaskar
शहर के भिवानी स्टैंड स्थित डॉली सरदार का आवास।
  • रैनबेक्सी के पूर्व प्रमोटर की पत्नी से धोखाधड़ी के तार शहर से जुड़ रहे

हेल्थ सेक्टर नामी कंपनी रैनबेक्सी और फोर्टिस ग्रुप के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह व मालविंदर सिंह की पत्नियों से 200 करोड़ रुपए की वसूली व ठगी नेटवर्क के तार सीधे रोहतक से जुड़ रहे हैं। शहर के भिवानी स्टैंड के पास रहने वाले रियल एस्टेट कारोबारी अवतार सिंह कोचर उर्फ डोली सरदार की गिरफ्तारी इस मामले में हुई है। दिल्ली की आर्थिक अपराध शाखा ने पंचकूला से उन्हें गिरफ्तार किया है। बुधवार को दिल्ली पुलिस ने डॉली सरदार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया। पुलिस को उनका 15 दिन का रिमांड मिला है।

वहीं अभी तक की पूछताछ में सामने आया है कि शिविंदर सिंह की पत्नी अदिति सिंह से 200 करोड़ रुपए की जो रकम तिहाड़ जेल में बंद मास्टर माइंड सुदेश चंद्रशेखर ने जिस दीपक रामनानी ने वसूली थी उससे डॉली सरदार सीधे जुड़ा था। वसूली गई 200 करोड़ की रकम को डॉली सरदार ने ही अपने हवाला नेटवर्क के जरिए हांगकांग भेजा था। पुलिस पूछताछ में डॉली सरदार ने एक लिस्ट बताई है।

बताया जा रहा है कि रोहतक के ही रियल एस्टेट कारोबार से जुड़े कई लोगों के नाम इसमें शामिल हैं। ये वो लोग हैं जिनसे हवाला की रकम ट्रांसफर करने के लिए पैसों का जुगाड़ किया था। फिलहाल रोहतक पुलिस दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा का इस केस में सहयोग कर रही है। दूसरी ओर डॉली सरदार की गिरफ्तारी की खबर फैलने के बाद रियल एस्टेट कारोबारियों में हड़कंप मचा रहा।

डॉली ने 8% कमीशन पर पहले 140 करोड़ ट्रांसफर किए थे

दिल्ली पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि सुदेश चंद्रशेखर का नेटवर्क रैनबेक्सी के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह की पत्नी से वसूली कर रहा था । कोरोना काल शुरू होते ही जून 2020 में अदिति सिंह इस ठग गिरोह के जाल में फंस गई थी। उनसे जुलाई 2021 तक आरोपियों ने करीब 200 करोड़ रुपए वसूल कर लिए। इसके बाद ही डॉली सरदार की इस केस में भूमिका शुरू होती है।

पुलिस के अनुसार डॉली सरदार ने कबूल किया है कि उसके पास पहली बार सुदेश चंद्रशेखर का राइट हैंड ट्रेवल एजेंसी कारोबार से जुड़ा दीपक रामनानी हवाला के जरिए हांगकांग बड़ी रकम भेजने का सौदा लेकर आया था। कमीशन पर सौदा होने के बाद दीपक ने पहली बार में ही उसे 140 करोड़ रुपए हांगकांग ट्रांसफर करने के लिए दिए। डॉली सरदार ने 8 फीसदी कमीशन पर ये रकम अपने नेटवर्क के जरिए हांगकांग में हवाला के जरिए भेजी।

आज शहर में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल देगी दस्तक:

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के अनुसार देश के सबसे बड़े दवा कारोबारियों में शुमार शिविंदर सिंह व मालविंदर सिंह के परिवार के साथ हुई धोखाधड़ी के कई तार सीधे रोहतक से जुड़े हैं। डॉली सरदार ने रोहतक के कई कारोबारियों के नाम पुलिस को बताए हैं। डॉली सरदार की पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी के दौरान रिमांड याचिका में भी पुलिस ने तर्क दिया है कि डॉली सरदार के नेटवर्क को लेकर रोहतक व अन्य जगह छापेमारी करनी है।

सूत्रों के अनुसार डॉली सरदार ने शहर के कई ऐसे लोगों से संपर्क किया था जिनके रिश्तेदार हांगकांग में है। उन्हें यहां पर रकम दी गई और रिश्तेदारों ने हांगकांग में डॉली के नेेटवर्क को ये रकम चुकाई। इनकी तफ्तीश के लिए दिल्ली पुलिस गुरुवार को रोहतक में दस्तक दे सकती है।

ये है मामला
रैनबेक्सी के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह व मलविंदर सिंह 2300 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में 2019 से जेल में बंद हैं। तिहाड़ जेल में ही बंद एक शातिर सुदेश चंद्रशेखर ने 2020 में शिविंदर सिंह की पत्नी अदिति सिंह से लॉ सेक्रटरी ऑफ इंडिया बता जमानत दिलाने में मदद की पेशकश की। इसके बाद उनसे 200 करोड़ रुपए हांगकांग में भेजने के बारे में कहा गया। पुलिस के अनुसार इस पूरे रैकेट में शिविंदर सिंह की पत्नी अदिति व मालविंदर सिंह की पत्नी जपना सिंह से आरोपियों ने 200 करोड़ रुपए भारत में वसूल किए। बाद में ये रुपए हवाला के जरिए हांगकांग भेजे गए।

आरोपी सुदेश चंद्रशेखर जयललिता की पार्टी के नाम पर पहले भी कर चुका है ठगी
ठगी कांड का मास्टरमाइंड सुदेश चंद्रशेखर 4 साल से तिहाड़ जेल में बंद है। उसे तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता के निधन के बाद पार्टी के चुनाव चिह्न को लेकर की 70 करोड़ की ठगी मामले में गिरफ्तार किया था। सुदेश से पार्टी का चुनाव चिह्न चुनाव आयोग से दिलाने के नाम पर ये ठगी की थी। उसके राइट हैंड दीपक रामनानी से डॉली सरदार के पुराने संबंध बताए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...