मडूटा का चुनाव परिणाम:डॉ. विकास ने प्रधानी में विजयी सिक्सर जड़ा, बनाया रिकाॅर्ड; विपक्षी क्लीन स्वीप

राेहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एमडीयू में हुए मडूटा चुनाव के परिणाम में छठी बार जीतने के बाद डॉ. विकास व टीम। - Dainik Bhaskar
एमडीयू में हुए मडूटा चुनाव के परिणाम में छठी बार जीतने के बाद डॉ. विकास व टीम।

एमडीयू के शिक्षक संघ मडूटा के चुनाव में लगातार छठी बार जीत दर्ज कर यूआईईटी से डॉ. विकास सिवाच ने हर किसी को हैरान कर दिया है। आमने-सामने के मुकाबले में मतगणना के दौरान अंतिम समय तक हार-जीत के कयास लगाए जाते रहे। हालांकि जब रिटर्निंग अधिकारी प्रो. राहुल ऋषि ने मतगणना के बाद परिणामों का ऐलान किया तो एक बार फिर से मडूटा का ताज डॉ. विकास सिवाच के सिर सजा। इसी के साथ डॉ. विकास सिवाच ने मडूटा में प्रधानी का सिक्सर जड़कर एक नया रिकाॅर्ड भी कायम कर दिया है, जिसे तोड़ पाना आसान नहीं होगा।

साथ ही विपक्षियों को भी चारों खाने चित कर दिया है। डॉ. विकास सिवाच इस जीत का श्रेय शिक्षकों को ही देते हैं। उनका कहना है कि शिक्षकों के काम हो रहे हैं और उन्हें समाजसेवा में आनंद आता है, इसलिए शिक्षक मिलकर उन्हें कुर्सी पर बैठाते हैं और वे उनकी सालभर सेवा करते हैं।

रिटर्निंग ऑफिसर प्रो. राहुल ऋषि ने बताया कि मडूटा प्रधान पद के लिए कुल 320 वोट पड़े, जिनमें से प्रधान पद पर 3 वोट अयाेग्य करार दिए गए हैं। डॉ. विकास सिवाच को 213 वोट मिलें, जबकि उनके प्रतिद्वंदी डाॅ. नेत्रपाल सिंह को 104 वोट प्राप्त हुए। सचिव पद के लिए कुल 320 वोट पड़े, जिनमें से चार वोट रद्द हुए। सचिव पद पर डाॅ. महेंद्र यादव ने 204 मत प्राप्त करते हुए जीत हासिल की, जबकि उनके प्रतिद्वंदी डाॅ. हरिमोहन को 112 वोट मिले।

सर्वसम्मति से कोषाध्यक्ष डॉ. जगबीर नरवाल बने। कार्यकारी समिति के आठ सदस्य विजयी हुए हैं। इनमें सीपास से डॉ. सुरेंद्र कुमार, आईएचटीएम से डॉ. सुमेघ, यूआईईटी से डॉ. हरकेश सहरावत, बॉटनी से डॉ. आशा शर्मा, लाइब्रेरी साइंस से डॉ. पिंकी, यूआईईटी से डॉ. प्रदीप गहलोत, इमसार से डॉ. कर्मवीर सिंह श्योकंद, इमसार से डॉ. सपना शामिल हैं।

320 वोट में से 213 पाकर विजेता बने डॉ. विकास सिवाच

जीत कर बाेले: सातवां वेतन आयोग आर सीएएस बड़े मुद्दे
डाॅ. सिवाच ने कहा कि सरकार मुख्य तौर पर एडेड काॅलेजाें की तर्ज पर विवि में स्वीकृत शिक्षकों का वेतन का 95 फीसदी हिस्सा वहन करें। सातवें वेतन आयोग के रेगुलेशन को लागू करवाने के लिए लड़ाई लड़ेंगे। स्वायतता के मुद्दे पर सरकार से लड़ाई जारी रहेगी। ओल्ड पेंशन स्कीम, ग्रीष्मकालीन अवकाश एक से 20 जुलाई तक करवाए जाएंगे। चूंकि अभी ग्रीष्मकालीन अवकाश अगस्त में तय किए हैं। इस समय होने वाले छात्रों की परीक्षा प्रभावित होंगे। छात्र भी हमारी प्राथमिकता है। कॅरियर एडवांसमेंट स्कीम (सीएएस) के इंटरव्यू की स्क्रीनिंग करवाना मुख्य मुद्दे रहेंगे। इनके लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे।

अब तक ये बड़े काम करवाए

  • ग्रांट इन एड के मुद्दे पर फैसला वापसी।
  • एचआरएमएस पोर्टल का विरोध लगातार जारी रहेगा।
  • शिक्षकों की लंबित मांगों को पूरा करवाया जाएगा।
  • नए आवासीय सुविधा के लिए व्यवस्था करवाएंगे।
  • पीएचडी इंक्रीमेंट के मर्जर का मुद्दा पूरा करवाया जाएगा।

मडूटा का चुनाव परिणाम

प्रधान : वोट डाले-320, अयोग्य वोट-3
डॉ. विकास सिवाच : 213 जीते
डॉ. नेत्रपाल सिंह : 104 हारे
सचिव : वोट डाले - 320, अयोग्य वोट-4
डॉ. महेंद्र यादव : 204 जीते
डॉ. हरिमोहन : 112 हारे

ये भी जानें: 2010 में मडूटा के सदस्य बने, अब तक नहीं हारे
डाॅ. विकास सिवाच वर्ष 2010 से लगातार मडूटा के सदस्य रहे हैं। पहला चुनाव वर्ष 2010 में लड़ा, अब तक सभी चुनाव जीते हैं। वर्ष 2016 में पहली बार प्रधानी के लिए दावेदारी पेश की और विजयी रहे। तब से लगातार छठी बार मडूटा का प्रधान बनने का कीर्तिमान स्थापित किया है। बतौर प्राध्यापक वर्ष 2005 में विश्वविद्यालय में नौकरी ज्वाइन की। सैमाण गांव से संबंध रखने वाले डाॅ. विकास मडूटा के साथ ही हरियाणा फेडरेशन ऑफ यूनिवर्सिटीज एंड काॅलेज टीचर ऑर्गेनाइजेशन के चेयरमैन भी हैं।

खबरें और भी हैं...