अनिश्चितकालीन आंदोलन का ऐलान:चार दिन बाद भी 5 सूत्री मांगों पर नहीं बनी सहमति, शहर के 100 सीवरमैन हड़ताल पर

रोहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सफाई नहीं होेने से पुराने शहर सहित आउटर कॉलोनियों में ओवरफ्लो हो रहे सीवर (हुडा कॉम्प्लेक्स में धरनास्थल पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते सीवर कर्मचारी।) - Dainik Bhaskar
सफाई नहीं होेने से पुराने शहर सहित आउटर कॉलोनियों में ओवरफ्लो हो रहे सीवर (हुडा कॉम्प्लेक्स में धरनास्थल पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते सीवर कर्मचारी।)
  • पब्लिक हेल्थ के एक्सईएन ने लिखित में नहीं दिया आश्वासन

अपनी 5 सूत्री मांगों पर 48 घंटे के अंदर कार्रवाई के लिखित आश्वासन पर अड़े सीवरमैनों की सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू हो गई। पब्लिक हेल्थ विभाग के एक्सईएन के साथ बातचीत बेनतीजा होने के बाद आर-पार के संघर्ष का ऐलान करते हुए सीवरमैनों ने कहा कि इस बार वे अधिकारियों व ठेकेदार के किसी भी झांसे में आने वाले नहीं है। बिना मांग पूरी हुए वे काम पर नहीं लौटेंगे। इधर, सफाई नहीं होने से पुराना शहर सहित आधा दर्जन से अधिक इलाकों से सीवर जाम होने और ओवरफ्लो होने की शिकायतें भी आई हैं। लेकिन उनका समाधान नहीं हो पाया। हुडा कॉम्प्लेक्स स्थित डिस्पोजल परिसर में 3 दिन पहले एकत्रित हुए सीवरमैनों ने बैठक करने के बाद सामूहिक रूप से मांगांें पर बातचीत और उसका समाधान कराने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम पब्लिक हेल्थ विभाग के अधिकारियों और ठेकेदार को दिया था। लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। इससे नाराज सीवरमैन सोमवार को सुबह 9 बजे दोबारा हुडा काॅम्प्लेक्स के डिस्पोजल पर जुटे। वहां बैठक हुई।

तय किया गया कोई भी सीवरमैन काम पर नहीं जाएगा। इसके प्रधान सुनील कुमार साथियों के साथ बुलावे पर पब्लिक हेल्थ विभाग के एक्सईएन रोहित के पास गए। जहां देर तक बातचीत हुई। लेकिन मांगों पर कोई समझौता नहीं हुआ। इसके बाद सुनील ने घोषणा कर दी कि जब तक उच्चाधिकारियों की ओर से मांगों को पूरा किए जाने या लिखित आश्वासन नहीं मिलेगा, तब तक सीवरमैन काम पर नहीं लाैटेंगे।

सीवरेज ओवरफ्लो होने से हालात बिगड़ेंगे
दूसरी ओर, सीवर की सफाई नहीं होने से चिन्योट कॉलोनी चौक, एकता कॉलोनी, किला रोड बाजार, शास्त्री नगर, कबीर कॉलोनी और देव कॉलोनी आदि इलाकों में सीवर ओवरफ्लो की शिकायतें आई। लेकिन यहां के निवासियों की बार बार मांग किए जाने के बाद हड़ताल पर बैठे सीवरमैन वहां सफाई करने नहीं पहुंचे हैं। हड़ताल खत्म नहीं हुई तो मंगलवार से सीवर बंद होने और ओवरफ्लो होने से हालात बिगड़ेंगे। आमजन को मुश्किल का सामना करना पड़ेगा।

सीवरमैन की मांगें, जिनके के लिए उठा रहे आवाज

  • हरियाणा कौशल रोजगार निगम में सभी सीवरमैन कर्मचारियांंे का पंजीकरण होना चाहिए।
  • हटाए गए सीवरमैन कर्मचारियों को काम पर दोबारा लिया जाए।
  • मृत सीवरमैन की विधवाओं को डीसी ने ठेके पर लगाया था। उनको फुल टाइम ड्यूटी पर लिया जाए।
  • सभी सीवरमैन कर्मचारियों के वेतन का भुगतान बैंक खाता से होना चाहिए।
  • सभी सीवरमैन कर्मचारियों का पीएफ सुचारू ढंग से काटा जाए। {पिछला पीएफ का भुगतान जल्दी से किया जाए।
खबरें और भी हैं...