पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Even After The MAC Test, There Were Problems In The Examination, The Student Said PIN Did Not Reach, Half Screen Was Shown

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एमडीयू के छात्र परेशान:माॅक टेस्ट के बाद भी परीक्षा में आईं दिक्कतें, स्टूडेंट बोले- पिन नहीं पहुंचा, आधी स्क्रीन दिखी

राेहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (फाइल फोटो)
  • कोरोना काल में एमडीयू की ओर से करवाई जा रही स्नातक फाइनल वर्ष की परीक्षाओं में खत्म नहीं हो रहीं समस्याएं

कोरोना काल में स्नातक फाइनल की परीक्षा दे रहे स्टूडेंट्स के सामने कई तरह की समस्याएं आ रही हैं। इन समस्याओं को लेकर एमडीयू प्रशासन भी रोजाना अतिरिक्त निर्देश देकर स्टूडेंट्स को समझाने का प्रयास कर रहा है, लेकिन अभी तक समस्याओं का अंत नहीं हो पाया है। पहले दिन की ही तरह दूसरे दिन भी स्टूडेंट्स काे समस्याएं झेलनी पड़ी।

ये हाल तब है जब स्टूडेंट्स की ऑनलाइन परीक्षा काे लेकर उनका माॅक टेस्ट भी करवाया था। वहीं अब दूसरे दिन एमडीयू प्रशासन की ओर से स्टूडेंट्स को मोबाइल फोन के स्क्रीन शॉट भेजकर प्रश्न को जूम कर देखने, स्क्रीन पर पूरा प्रश्न ना देख पाने पर क्लोज बटन दबाने और अगला प्रश्न देखने के लिए निर्देश भी जारी किए हैं। कुछ विद्यार्थियों को ऑनलाइन पेपर देने से वंचित रहना पड़ा तो कुछ विद्यार्थियों के पास समय पर एग्जाम पिन नहीं पहुंच पाया।

इसके अलावा कुछ का कहना है कि जब वे परीक्षा दे रहे थे तो उन्हें आधी ही स्क्रीन दिखाई। किसी की एप्लिकेशन काम नहीं की, तो किसी विद्यार्थी का पिन ही गलत बताया गया। एक दिन में एक विद्यार्थी के 3 पेपर कराए गए, जिसके बीच कोई ब्रेक का समय नहीं दिया गया। सभी पेपर एक के बाद एक करवाए गए, इस कारण काफी विद्यार्थियों के 1 या दो एग्जाम छूट गए।

खरैंटी गांव के जितेंद्र ने बताया कि उनकी बेटी ने बीएससी केमेस्ट्री की परीक्षा दी थी। इस दौरान एक साथ तीन विषयों की परीक्षा ली गई। सुबह 10 बजे से परीक्षा शुरू हुई और लगातार साढ़े 11 बजे तक चली। इसमें भेजे गए कोड से दो परीक्षा तो हो गई, लेकिन एक परीक्षा नहीं हो पाई। ऐसे में उस कोड को इनवेलिड बता दिया गया। इस मामले में परीक्षा शाखा को संज्ञान लेकर बच्चों की दोबारा परीक्षा करवानी चाहिए या उन्हें ग्रेस मार्क्स दिए जाने चाहिए।

स्टूडेंट्स ने ऑनलाइन परीक्षा में गिनवाईं समस्याएं

बीएससी पास कोर्स की छात्रा शिवानी का कहना है कि पहले तो पेपर खोलने में ही 15 मिनट का समय लग गया। पेपर पूरा होने के बाद भी एंड टेस्ट का ऑप्शन ही नहीं आया। ऐसे में पॉज बटन प्रेस करके अपना दूसरा पेपर स्टार्ट कर दिया। इस बारे में अभी तक शंका बनी हुई है कि मेरा पहला पेपर सब्मिट भी हुआ है या नहीं। यही पता करना है।

बीएससी के छात्र शेखर ने बताया कि इसके चलते पहला पेपर तो ठीक से पिन के जरिए खुल गया और पूरा कर लिया। दूसरे के लिए एग्जाम पेपर के लिए पिन नंबर डाला तो वह स्टार्ट हो गया और जैसे ही इसे पूरा करने के बाद दूसरा पेपर करना चाहा तो पिन नहीं चल पाया। इसके बाद तीसरे पेपर में पिन फिर से काम कर गया। ऐसे में एमडीयू प्रशासन इस मामले में समाधान करवाएं।

बीएससी की छात्रा प्रियंका का कहना है कि आज मेरे केमेस्ट्री के तीन एग्जाम होने थे, लेकिन दो ही हो पाए। तीसरा पेपर ओपन ही नहीं हुआ। शुरू के 10-15 मिनट तो लाग-इन करने की वजह से ही खराब हो गई। साथ ही सर्वर भी डाउन हो गया था। तीसरा पेपर जब देने लगी तो वह ओपन ही नहीं हो पाया। इस समस्या का समाधान किया जाए।

परीक्षा नियंत्रक से बात की

छात्र नेता नेता दीपक धनखड़ ने परीक्षा नियंत्रक डॉ. बीएस सिंधु से पूरे मामले पर बात की। उन्होंने आश्वासन दिया कि विद्यार्थियों की समस्याओं पर ध्यान दिया जाएगा और जल्द ही इसका समाधान निकाला जाएगा।

हेल्प डेस्क पर सूचना दे सकते हैं स्टूडेंट : डॉ. सिंधु

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. बीएस सिंधु ने बताया कि विभिन्न आॅनलाइन एमसीक्यू (मल्टीपल चॉयस क्वेश्चन) परीक्षा संबंधित परीक्षा पिन (पर्सनल आइडेंटिफिकेशन नंबर) विद्यार्थियों के ई-मेल आईडी और मोबाइल नंबर पर भेजेगा। ये पिन नंबर परीक्षा से एक दिन पहले भेजा जाएगा। यदि परीक्षा पिन नंबर प्राप्त नहीं होता है तो विद्यार्थी हेल्प डेस्क फोन नंबर 01262- 293232 पर संपर्क कर सकते हैं। या फिर ई-मेल online.exam@mdu.ac.in पर संपर्क कर सकते हैं। किसी तकनीकी दिक्कत की सूरत में विद्यार्थी परीक्षा एडमिट कार्ड की स्कैन्ड कॉपी भेजकर तकनीकी दिक्कत का विवरण दे सकते हैं। हेल्प डेस्क स्टाफ इन दिक्कतों का निवारण करेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें