पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गिरफ्तारी:ऐश करने को फौजी ने दोस्तों संग बनाया गैंग, छुट्‌टी आकर लूटने लगा घर, 2 धरे

रोहतक12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।

मानसरोवर कॉलोनी में 11 साल की लड़की को गन पॉइंट पर बंधक बना नकदी-गहने लूटने की वारदात में खुलासा हो गया है। सीआईए-3 ने 2 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें सूर्य कॉलोनी का रमन और भिवानी के रतेरा गांव का अमित उर्फ अजय शामिल है। जांच में सामने आया है कि पूरी वारदात को अंजाम देने का मास्टरमाइंड शास्त्री नगर का कुलदीप है।

कुलदीप आर्मी में है और इन दिनों उसकी पोस्टिंग जबलपुर में बताई जा रही है। पुलिस कुलदीप की गिरफ्तारी के लिए उसकी यूनिट में सपंर्क कर रही है। पुलिस जांच में सामने आया है कि कुलदीप ने ही एशो आराम की जिंदगी जीने के लिए अपने दोनों दोस्तों के साथ मिलकर 3 महीने पहले गैंग बनाया था। तीनों के टारगेट पर ऐसे मकान थे जो रात के समय सुनसान रहते हों। मानसरोवर कॉलोनी के जिस मकान में इन्होंने वारदात को अंजाम दिया था उसकी भी इन लोगों ने कई दिनों तक रेकी की थी।

सीसीटीवी फुटेज से आए पहचान में तो धरे गए

हेड क्वार्टर डीएसपी गोरखपाल राणा ने रविवार को पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि मानसरोवर कॉलोनी में 21 अगस्त की रात को चोर 11 साल की बच्ची पर पिस्तौल तानकर गहने और नकदी चोरी कर ले गए थे। मकान मालिक कपिल के बयान पर केस दर्ज किया था। सीआईए-3 प्रभारी गोर्धन सिंह की टीम ने छापेमारी करते हुए दो आरोपियों काबू किया। बताया जा रहा है कि वारदात के बाद भागते आरोपियों की जो सीसीटीवी फुटेज पुलिस को मिली थी उसी आधार पर दो आरोपियों की पहचान हो पाई थी। ये भी सामने आया है कि वारदात के दिन कुलदीप जबलपुर में अपनी यूनिट से गैरहाजिर भी बताया जा रहा है।

रेकी के बाद शाम को ही वारदात करते थे तय
पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के लिए शाम के समय को चुना हुआ था। शाम 6 से 7 बजे के बीच ऐसे घरों से जब लोग सैर व किसी अन्य काम से बाहर जाते थे तो ये गैंग उस घर पर धावा बोलता था। अगर परिवार का कोई सदस्य वहां मौजूद होता तो उसे गन पॉइंट पर लेकर लूट की वारदात को अंजाम देते। आरोपियों के कब्जे से दिल्ली से चोरी की गई एक बाइक भी बरामद हुई है।

खबरें और भी हैं...