पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Fellow Personnel Will Help The Families Of Police Personnel Who Died From Corona, From Constables To Officers Will Help

सराहनीय पहल:कोरोना से मरे पुलिस जवानों के परिवार को मदद देंगे साथी कर्मी, सिपाही से लेकर अधिकारी सहायता करेंगे

रोहतक18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हवलदार नीरज - Dainik Bhaskar
हवलदार नीरज
  • महामारी में जान गंवाने वाले जवानों के लिए पुलिस ने की पहल

कोरोना महामारी के कारण जिला पुलिस के दो जवानों की मौत हो चुकी हैं। इन जवानों के परिजनों को आर्थिक मदद के लिए अब पुलिस ने बड़ी पहल की है। सिपाही से लेकर बड़े अधिकारियों ने इन जवानों के परिजनाें काे 500 से लेकर 2 हजार अपनी वेतन से देने का प्लान बनाया है।

इन रुपए को एकत्रित करके जिला पुलिस की ओर से दोनों पुलिस जवानों के परिजनों को दिया जाएगा। इससे परिवार को इस दुख की घड़ी में आर्थिक मदद होगी। क्योंकि कोरोना महामारी के उपचार के दौरान भी दोनों पुलिस कर्मियों को कई दिन तक अस्पतालों में भर्ती रहे थे।

ये है पुलिस के दोनों जवान, पीजीआई में उपचार के दौरान हुई थी मौत

एसआई राजेंद्र सिंह ।
एसआई राजेंद्र सिंह ।

एसआई राजेंद्र सिंह थाना पीजीआई में बतौर रात्रि मुंशी के पद पर तैनात थे। एसआई को कोरोना संक्रमित होने पर पीजीआई में दाखिल कराया गया था। जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई थी। एसआई के परिवार में उनकी पत्नी, दो पुत्र व एक पुत्री है। बड़े पुत्र व पुत्री का विवाह हो चुका है। छोटा पुत्र अविवाहित है और पढ़ाई कर रहा है।

हवलदार नीरज के पिता का भी हो चुका देहांत

मूलरूप से झज्जर के डीघल गांव के रहने वाले नीरज कुमार सन 2000 में पुलिस में भर्ती हुए थे। हाल ही में जनता कॉलोनी में रहते थे। हवलदार अदालत में जज के पास गनमैन तैनात थे। 1 जून को निजी अस्पताल में उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई थी। हवलदार नीरज कुमार के परिवार में उनकी पत्नी व दो पुत्र है। मुख्य सिपाही नीरज कुमार के पिता का पहले ही देहांत हो चुका है।
आर्थिक मदद देने का लिया फैसला

जिले के पुलिस के दो जवानों की कोरोना महामारी के कारण मौत हो चुकी हैं। दोनों परिवारों की आर्थिक मदद का फैसला जिला पुलिस की ओर से लिया गया है। ऐसे में हर जवान अपने इच्छानुसार 500 से 2 हजार रुपए तक पैसे अपने अकाउंट से देगा।
गोरखपाल राणा, हेड क्वार्टर डीएसपी

खबरें और भी हैं...