अब ग्रामीण चौकीदारों को मृत्यु रजिस्ट्रेशन करना होगा ऑनलाइन:सभी सुविधाओं को ऑनलाइन करने प्रयास कर रही सरकार, मिलेंगे 300 रुपए प्रति एंट्री

रोहतक13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अभी तक हाईटेक सिस्टम से दूरी बनाने वाले ग्रामीण चौकीदारों की प्रक्रिया भी सरकार ऑनलाइन करने जा रही है। गांवों में अब तक मरने वालों की सूचना रजिस्टर में दर्ज करते आ रहे ग्रामीण चौकीदार अब कामन सर्विस सेंटर के जरिए पोर्टल पर मृत्यु का आंकड़ा रजिस्टर करवाएंगे। इसके एवज में ग्रामीण चौकीदारों को सरकार की ओर से 300 रुपए प्रति एंट्री का भुगतान किया जाएगा। यह राशि विकास एवं पंचायत विभाग की ओर से जारी हर महीने जारी की जाएगी। यह राशि भी सरकार की ओर से ही जारी की जाएगी। विकास एवं पंचायत विभाग के निदेशक की ओर से जारी किए गए पत्र के मुताबिक, सभी ग्रामीण चौकीदारों को पोर्टल पर अपनी आईडी बनानी होगी।

आईडी जनरेट होने के बाद कॉमन सर्विस सेंटर पोर्टल पर मृतक का डिटेल अपडेट करने केि लिए 50 रुपए की राशि देय होगी। इसके अलावा 150 रुपए ग्राम पंचायत को भी दिए जाएंगे। अभी तक इस तरह की कोई व्यवस्था नहीं है। सिर्फ रजिस्टर में ही एंट्री करके मृतकों का रिकॉर्ड रखते थे। वहीं सीएम के सामने इस मामले पर पहले भी ग्रामीण चौकीदारों की ओर से ज्ञापन दिया गया था। उस समय रैली के दौरान सीएम ने ग्रामीण चौकीदारों का मानदेय भत्ता 3500 रुपए से 7 हजार रुपए तक कर दिया गया था। वहीं अब गुड गवर्नेंस के तहत सभी सुविधाओं को ऑनलाइन करने के लिए भी सरकार प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में अब यह नई व्यवस्था की गई है।

आईडी जेनरेट करनी होगी
पहले सभी ग्रामीण चौकीदारों की पोर्टल पर आईडी जनरेट की जाएगी। इसके तहत ही मृत्यु के आंकड़ों की एंट्री करनी होगी। हरेक चौकीदार अपने पासवर्ड से ही एंट्री कर सकेगा, ताकि कोई गलत एंट्री ना हो सके। हर महीने की एंट्री के हिसाब से ही ब्लाक कार्यालय की ओर से राशि ग्रामीण चौकीदारों के अकाउंट में जारी की जाएगी। - राजपाल चहल, बीडीपीओ, रोहतक।

खबरें और भी हैं...