पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा:गुरु शिल्पकार, गूगल उनका दर्जा नहीं ले सकता

रोहतक14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एमडीयू के टैगाेर ऑडाेटाेरियम में शिक्षक दिवस पर आयाेजित कार्यक्रम काे संबाेधित करते राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय। - Dainik Bhaskar
एमडीयू के टैगाेर ऑडाेटाेरियम में शिक्षक दिवस पर आयाेजित कार्यक्रम काे संबाेधित करते राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय।
  • एमडीयू में शिक्षक दिवस समारोह में राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने शिक्षा नीति व शिक्षक भूमिका पर रखे विचार
  • समारोह में शैक्षणिक, शोध, एनएसएस, यूथ रेडक्रॉस, सांस्कृतिक, खेल क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने पर सम्मानित किया

आत्मनिर्भर भारत का सपना, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रभावी क्रियान्वयन से पूरा होगा। इस क्रांतिकारी शिक्षा नीति के प्रभावी क्रियान्वयन में शिक्षकों की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। भारत के प्रसिद्ध समाज सुधारक महर्षि दयानंद सरस्वती के नाम पर समर्पित महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के शिक्षकगण इस कार्य को बखूबी अंजाम दें। वर्तमान समय में हर कोई जानकारी तलाशने के लिए गूगल पर जाते हैं लेकिन गुरु का दर्जा गूगल कभी नहीं ले सकता है। गुरु एक शिल्पकार है।

टैगोर सभागार में रविवार को बतौर मुख्य अतिथि हरियाणा के राज्यपाल व एमडीयू कुलाधिपति बंडारू दत्तात्रेय ने यह बात शिक्षक दिवस समारोह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने अपने भौतिकी विषय के शिक्षक रमाया व तेलुगु भाषा के शिक्षक शेषाचारी को भी भावपूर्ण ढंग से याद किया। उन्होंने शिक्षक समुदाय से आह्वान किया कि वे मां की तरह विद्यार्थियों का ख्याल रखें। उनके बौद्धिक विकास के साथ-साथ मनोबल अभिवृद्धि व चरित्र निर्माण के लिए निरंतर कार्य करें।

शिक्षक दिवस समारोह में मंच संचालन इमसॉर विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डा. दिव्या मल्हान ने किया। इस मौके पर कुलपति प्रो. राजबीर सिंह, कुलसचिव प्रो. गुलशन लाल तनेजा, टैगोर सभागार में आयोजित शिक्षक दिवस समारोह में विश्वविद्यालय की प्रथम महिला डा. शरणजीत कौर, संकायों के डीन, विभागाध्यक्ष, स्टैच्यूटरी अधिकारी गण, विवि शिक्षक समुदाय उपस्थित रहे।

राज्यपाल ने इन्हें सम्मानित किया: शिक्षक दिवस समारोह में शैक्षणिक, शोध, एनएसएस, यूथ रेडक्रॉस, सांस्कृतिक, खेल क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए इमसॉर प्रोफेसर एके राजन, गणित के प्रोफेसर डाॅ. रेणु चुघ, इमसॉर के प्रोफेसर डाॅ. ऋषि चौधरी, राजनीति विज्ञान के प्रोफेसर डाॅ. रणबीर सिंह गुलिया, अंग्रेजी के प्रोफेसर डाॅ. रणदीप सिंह राणा, डाॅ. केके शर्मा, डाॅ. सर्वजीत सिंह गिल, खेल निदेशक डाॅ. देवेन्द्र सिंह ढुल, युवा कल्याण निदेशक जगबीर राठी को सम्मानित किया गया।

खबरें और भी हैं...