पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Three Days Ago, A 28 year old Youth Died After Being Hit By A Bike While Holding A Cow, People Protested For Rs 20 Lakh And DC Rate Job

जींद मिनी सचिवालय में लोगों का अनिश्चितकालीन धरना:गोवंश पकड़ते समय बाइक की चपेट में आने से हुई थी युवक की मौत, मृतक के परिवार को 20 लाख रुपये का मुआवजा और डीसी रेट पर नौकरी देने की मांग

रोहतक9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मिनी सचिवालय में धरना स्थल पर नारेबाजी करती महिलाएं। - Dainik Bhaskar
मिनी सचिवालय में धरना स्थल पर नारेबाजी करती महिलाएं।

हरियाणा के जींद जिले में 11 सितंबर की रात को नगर परिषद के ठेकेदार के पास काम करने वाले युवक की गोवंश पकड़ते समय बाइक की चपेट में आने से मौत हो गई थी। हादसे के तीन दिन बाद भी मरने वाले के परिवार ने उसका संस्कार नहीं किया है। युवक का शव सिविल अस्पताल की मॉर्चरी में रखकर युवक के परिवार और अन्य लोगों ने मंगलवार से जींद मिनी सचिवालय में अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया। इन लोगों का कहना है कि युवक की एक ही बेटी है, जो सिर्फ एक साल की है। अब युवक के परिवार के सामने रोटी का संकट है। ऐसे में उसके परिवार को 20 लाख रुपए का मुआवजा व उसकी पत्नी को डीसी रेट पर नौकरी दी जाए।

धरना स्थल पर सभी सुविधाएं
हादसे के बाद पिछले 2 दिनों से युवक के परिवार और उसके जान-पहचान वाले लोग अपनी मांगों को लेकर जींद जिला प्रशासन के अधिकारियों से मिले। जब सुनवाई नहीं हुई तो इन लोगों ने मंगलवार दोपहर बाद मिनी सचिवालय में धरना लगा दिया।किसान आंदोलन की तर्ज पर इस धरना स्थल पर भी सभी सुविधाएं पहुंच गईं। गैस चूल्हा, बर्तन और खाद्य सामग्री व दूसरा सामान पहुंचने के बाद धरने पर बैठे लोगों ने मंगलवार दोपहर का खाना यहीं बनाया। उनका कहना है कि जब तक मांगें नहीं मानी जाती, वे यहां से नहीं जाएंगे।

मिनी सचिवालय में धरना स्थल पर खाना बनाते लोग।
मिनी सचिवालय में धरना स्थल पर खाना बनाते लोग।

बाइक सवार ने मारी थी टक्कर
पुलिस के अनुसार, जींद शहरी एरिया में गोवंश को पकड़ने का ठेका समालखा के राजेश शर्मा ने लिया है। राजेश शर्मा के पास काम करने वाले राम कॉलोनी निवासी दीपक, राहुल, अमन, सुरेश व सुनील शनिवार रात को मिनी सचिवालय के सामने गोहाना रोड पर बैठे गोवंश को पकड़ रहे थे। उसी दौरान जींद की डिफेंस कॉलोनी में रहने वाला यश नामक युवक बाइक पर वहां से निकल रहा था। गोवंश को पकड़ते हुए ठेकेदार राजेश शर्मा का कर्मचारी सुनील उसकी मोटरसाइकिल की चपेट में आ गया और बाइक की सीधी टक्कर से सुनील की मौके पर ही मौत हो गई। यश को भी गंभीर चोटें आईं।

एक्सीडेंट के बाद ठेकेदार राजेश शर्मा के अन्य कर्मचारियों ने दोनों को संभाला और अस्पताल पहुंचाया। हादसे का पता चलते ही यश के परिवार वाले भी अस्पताल पहुंच गए और ठेकेदार राजेश शर्मा के कर्मचारियों से हाथापाई शुरू कर दी। जब लोगों ने बताया कि यश की बाइक की टक्कर से एक कर्मचारी की मौत हो चुकी है तो यश का परिवार उसे घायल अवस्था में ही लेकर वहां से फरार हो गया।

खबरें और भी हैं...