पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोहतक के तीन मामलों में FSL रिपोर्ट का इंतजार:जाट कॉलेज अखाडे का हत्याकांड, चुलियाना में खोपड़ी मिलने और खरावड़ ब्लास्ट पर लंबित पड़ी कोर्ट की कार्यवाही, फाइंडिंग्स के लिए भेजा रिमाइंडर

रोहतक11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एफएसएल लैबोरिटी करनाल। - Dainik Bhaskar
एफएसएल लैबोरिटी करनाल।

हरियाणा के रोहतक जिले में इस साल हुई बड़ी वारदातों की FSL रिपोर्ट के इंतजार में आगामी पुलिस और कोर्ट कार्यवाही लंबित पड़ी हुई है। रोहतक पुलिस की ओर से इन मामलों में रिपोर्ट जल्द से जल्द भिजवाने के लिए मधुबन लैब को लगातार रिमाइंडर भेजे रहे है। मगर, रिपोर्ट नहीं मिल रही है। पुलिस ने इस साल के तीन बड़े मामलों की रिपोर्ट जल्द भेजने के लिए लैब को रिमाइंडर भेजे हैं।

फरवरी माह में शहर में हुए बहुच‌र्चित जाट कॉलेज अखाड़ा हत्याकांड में हुई छह लोगों की मौत के मामले में पुलिस ने आरोपी सुखविंदर को गिरफ्तार किया हुआ है। आरोपी ने वारदात में प्रयुक्त पिस्तौल बरामद की हुई है। मामले की सुनवाई कोर्ट में चली हुई है। मामले में 21 सितंबर की तारीख लगी हुई है। अगर इस बार पिस्तौल की एफएसएल रिपोर्ट आ जाती है तो आरोपी पर आरोपी तय होने की पूरी संभावना है। रिपोर्ट से यह साबित होगा कि इसी पिस्तौल से गोलियां चली थी या नहीं। मगर रिपोर्ट न मिलने की वजह मामले की तारीख और आगे बढ़ सकती है। पुलिस ने इस मामले में लैब को रिमाइंडर भी भेजा हुआ है।

15 जून को चुलियाना गांव के बाहर पंचायती जमीन में हड्डियां और खोपड़ी बरामद हुई थी। सूचना मिलने पर आइएमटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और उन्होंने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या और सबूत मिटाने की धाराओं में केस भी दर्ज किया था। मौके से महिला के कुछ कपड़े और बालो की पिन भी बरामद हुई थी, लेकिन इससे यह कहना मुश्किल था कि हड्डियां और खोपड़ी किसी महिला की ही थी। हड्डियां और खोपड़ी के राज से पर्दा उठाने के लिए पुलिस ने उन्हें लैब में जांच के लिए भेजा था। जिससे यह पता चल सके कि यह किसी पुरुष की है या महिला की, कितने दिन पुरानी है और उनका डीएनए की ही है या अलग-अलग। इन सवालों के जवाब मिलने के बाद ही पुलिस की जांच आगे बढ़ेगी, लेकिन अभी तक भी लैब से रिपोर्ट नहीं मिलने के कारण यह मामला अधर में लटका हुआ है। हैरानी की बात यह है कि जिस जगह पर हड्डियां और खोपड़ी मिली थी उससे करीब 70 मीटर दूर एक दिन पहले भी खोपड़ी बरामद हुई थी। वह एरिया झज्जर जिले के दुजाना थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता था। इसी वजह से दुजाना थाना पुलिस ने भी वहां पर हत्या का केस दर्ज किया था।

आईएमटी थाना क्षेत्र में गांव खरावड़ के पास 31 जुलाई की सुबह एक ब्लास्ट हुआ था। ब्लास्ट में एक स्थानीय ग्रामीण की बाई हाथ की अंगूलियां चली गई थी। कुछ दिनों बाद बांई आंख की रोशनी भी चली गई थी। मामले की जांच के लिए एनआईए की टीम भी रोहतक पहुंची थी। दो दिन की जांच के दौरान टीम को एक संदिग्ध पदार्थ मिला था। जो भी उसी विस्फोटक की तरह ही था, जिसे छूने से ग्रामीण के साथ हादसा हुआ था। इस संदिग्ध पदार्थ को पुलिस ने जांच के लिए लैब में भेजा था। मामले में डेढ माह बीत चुका है, मगर इसकी भी रिपोर्ट लंबवित है।

खबरें और भी हैं...