पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Hearing On The Petition Of Six Murder Accused Sukhivander Facing Threat To His Life And Jail Transfer After This Afternoon.

रोहतक का जाट कॉलेज अखाड़ा हत्याकांड:6 हत्याओं के आरोपी सुखविंदर ने सुनारिया जेल में जान को खतरा बताकर डाली थी जेल ट्रांसफर की याचिका, कल होगी सुनवाई

रोहतक10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के रोहतक जिले में फरवरी 2021 में हुए बहुचर्चित जाट कॉलेज अखाड़ा हत्याकांड में हुई 6 हत्याओं के आरोपी सुखविंदर ने खुद की जान को खतरा बताया है। वह रोहतक की सुनारिया जेल में कैद है, लेकिन उसने जेल ट्रांसफर करने की याचिका लगाई है। इस याचिका पर आज दोपहर बाद सुनवाई हुई, जिसे कल तक के लिए टाल दिया गया है। याचिका पर 13 सितंबर को भी सुनवाई हुई थी, मगर कोई फैसला नहीं आया था। पुलिस विभाग की ओर से जेल सुपरिंटेंडेंट कोर्ट पहुंचे थे।

सुनारिया जेल में बंद सुखविंदर के अलावा बबलू पहलवार परिवार के चार लोगों की हत्याएं करने के आरोपी अभिषेक उर्फ मोनू के वकील ने भी जेल में उसकी जान का खतरा बताया है। लगातार इस तरह के और भी मामले सामने आने पर 13 सितंबर को एडीजीपी रोहतक रेंज, जेल आईजी, रोहतक एसपी, जेल अधीक्षक समेत अन्य अधिकारियों ने जेल कार्यालय में एक महत्वपूर्ण बैठक की। बैठक के बाद जेल का निरीक्षण भी किया गया। निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने जेल में सुरक्षा व्यवस्था और ज्यादा बढ़ाने के लिए फैसला लिया है।

21 सितंबर को होनी है अखाड़ा हत्याकांड में अहम सुनवाई

जाट कॉलेज अखाड़ा हत्याकांड की 21 सितंबर को रोहतक कोर्ट में बेहद अहम सुनवाई होनी है। इस सुनवाई में आरोपी सुखविंदर पर आरोप तय हो सकते हैं। लेकिन कोर्ट कार्रवाई को आगे बढ़ाने में मदद और ट्रायल में देरी हो, इसके लिए आरोपी ने गेम खेली है। आरोपी सुखविंदर ने अपने वकील के जरिए कोर्ट में सुरक्षा याचिका दायर की है, जिसमें उसने सुनारिया जेल में अन्य कैदियों से खुद की जान का खतरा बताते हुए करनाल या भौंडसी जेल में ट्रांसफर किए जाने की मांग की है। आरोपी सुख‌विंदर ने यह याचिका मंगलवार यानि 7 सितंबर को दायर ‌की थी। जिसकी सुनवाई 8, 9 व 13 सितंबर को हुई। सुनवाई के दौरान शिकायतकर्ता पक्ष के वकील जय हुड्डा के अलावा पुलिस और जेल प्रशासन ने अपना अपना तर्क दिया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए कोर्ट ने फिर से सुनारिया जेल प्रशासन से इस संबंध में पूरी जानकारी के साथ जबाव मांगा है।

कोर्ट कार्रवाई को आगे बढ़ाने और ट्रायल में देरी के लिए खेली आरोपी ने गेम

मामले में शिकायतकर्ता पक्षों की ओर से पैरवी कर रहे एडवोकेट जय हुड्डा का कहना है कि आरोपी सुखविंदर के अनुसार, सुनारिया जेल में मोखरा, मांडौठी आदि क्षेत्रों के कैदी भी बंद है। इन क्षेत्रों के दो लोगों की हत्याओं का उस पर आरोप है, जिसके चलते जेल में बंद इन कैदियों से उसे अपनी जान का खतरा है। इसलिए उसे यहां से करनाल एवं भौंडसी जेल में ट्रांसफर किया जाए। एडवोकेट हुड्डा के मुताबिक, आरोपी 21 सितंबर को होने वाली आगामी सुनवाई के चलते यह गेम खेल रहा है। क्योंकि, यहां से ट्रांसफर करने पर उसे तारीख पर कोर्ट में लाने और ट्रायल में देरी होनी लाजमी होगी, जिसके चलते तारीख आगे बढ़ने की भी संभावना रहेगी।

पुलिस ने सुरक्षा व जेल ने दिया अलग से रखे जाने का जबाव

आरोपी की याचिका पर कोर्ट में रोहतक पुलिस व जेल प्रशासन ने भी अपना जबाव दिया है। जेल प्रशासन ने कहा है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी को सुनारिया जेल में अलग बैरक में रखा जा रहा है। वह अन्य बंदियों से दूर है। उसकी जान को वहां कोई खतरा नहीं है। वहीं रोहतक पुलिस ने जबाव दिया है कि आरोपी को दूसरे जिले से रोहतक कोर्ट लाने में हमेशा सुरक्षा व्यस्था को लेकर काफी जद्दोजहद करनी पड़ेगी। वह दूसरे जिलों की जेलों से अधिक सुरक्षा रोहतक सुनारिया जेल में है।

12 फरवरी की थी वो शाम, जब आरोपी ने बच्चे समेत 6 को मारी थी गोलियां

गौरतलब है कि शहर के जाट कॉलेज के अखाड़े में 12 फरवरी को कोच सुखविंद्र ने मुख्य कोच मनोज समेत 6 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृतकों में मुख्य कोच मनोज के अलावा, उसकी पत्नी साक्षी, 3 साल का बेटा सरताज, कोच प्रदीप, सतीश और पूजा शामिल थे। पुलिस ने आरोपी कोच सुखविंद्र और उसको हथियार उपलब्ध कराने वाले मनोज को गिरफ्तार किया है। मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रहा है।

खबरें और भी हैं...