• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • For The First Time Major Action On Illegal Construction Of District Town Planner Department, Case Filed Against 45 Including 21 Women, Yellow Claw Was Also Run On Illegal Construction

अवैध निर्माण करने वाले हो जाएं सावधान:योजनाकार विभाग की पहली बार बड़ी कार्रवाई; 21 महिलाओं सहित 45 के खिलाफ केस दर्ज, पीला पंजा चलाकर ढहा दिया भवन

रोहतक3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी थाना क्षेत्र में हुए अवैध निर्माण को धवस्त करती जिला नगर योजनाकार टीम। - Dainik Bhaskar
सिटी थाना क्षेत्र में हुए अवैध निर्माण को धवस्त करती जिला नगर योजनाकार टीम।

अवैध निर्माण करने वाले लोग अब सावधान हो जाएं। नगर योजनाकार की तरफ से बड़ी कार्रवाई करते हुए 45 लोगों के खिलाफ सिटी थाने में केस दर्ज कराया गया है। खास बात यह है कि जिन लोगों पर केस दर्ज हुआ है, उसमें 21 महिलाएं भी शामिल है। हरियाणा के रोहतक जिले के बाहरी छोर पर अवैध निर्माण करने के मामले में सहायक जिला नगर योजनाकार की तरफ से पहली बार ऐसी कार्रवाई की गई है। सभी के खिलाफ हरियाणा डेवलपमेंट एंड रेगुलेशन ऑफ अर्बन एरिया एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा उनके द्वारा अवैध रूप से तैयार करवाए गए घर पर भी पीला पंजा चला दिया गया है।

अधिक जिम्मेदार प्रॉपर्टी डीलर, मगर उन पर कार्रवाई कभी कभार

अवैध निर्माण के इस मामले में सबसे अधिक जिम्मेदार प्रॉपर्टी डीलर होते हैं, लेकिन उनके खिलाफ कभी-कभार कानूनी कार्रवाई होती है। दरअसल प्रॉपर्टी डीलर किसानों को कुछ ब्याना देकर उनकी जमीन खरीद लेते हैं, जिसके बाद उस जमीन पर प्लॉट काटकर बेचना शुरू कर देते हैं। जब तक किसान को पूरी रकम नहीं मिलती, तब तक जमीन किसान के नाम रहती है। इस प्रक्रिया के लिए प्रशासनिक स्तर पर भी कागजी कार्रवाई पूरी करनी होती है, लेकिन प्रॉपर्टी डीलर ऐसा नहीं करते।

इसी वजह से बिना कागजी कार्रवाई के जब उस जमीन पर निर्माण किया जाता है तो उसे अवैध माना जाता है। जिस व्यक्ति के नाम पर जमीन होती है, उसके खिलाफ केस दर्ज कर दिया जाता है। इस पूरे झमेले में किसान और प्लॉट खरीदने वाला लपेटे में आ जाता है। इनके खिलाफ केस दर्ज भी कराया जाता है और अवैध निर्माण भी तोड़ दिया या फिर सील कर दिया जाता है।

रोहतक प्रशासन द्वारा अवैध कॉलोनियों के बारे में चस्पा किया गया बैनर।
रोहतक प्रशासन द्वारा अवैध कॉलोनियों के बारे में चस्पा किया गया बैनर।

21 म‌हिलाओं सहित 45 पर केस दर्ज

अवैध निर्माण के मामले में जिन 45 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है, उनमें रामफल, कंवर साहब, रामचंद्र, टेकराम, गोपाल, संतराम, चिमनलाल, टेकराम, रामलाल, वजीर सिंह, बिजेंद्र सिंह, उमेद सिंह, रामप्रकाश, मलकीयत सिंह, कृष्ण, सन्नी, करनैल सिंह, जरनैल सिंह, मुख्तयार सिंह, सचिन, रामबीर, निशांत, अनिल कुमार और कपिल देव शामिल हैं। इसके अलावा महिलाओं में कुलविंद्र कौर, पोहली, चिंदी, गुड्डी, ममता, आकांशा, कमलेश, शशि, रोशनी, मनीषा, कमलेश, रशमी, किताबो, सोनिया, राजपति, सविता, बाला, रितू, गुंजन, कविता और कमलेश पर शामिल हैं।

इन एरिया में हैं सबसे अधिक अवैध कालोनी

जिन कालोनियों को अवैध की श्रेणी में रखा गया है, उसमें गढ़ी बोहर, टिटौली, कुताना, भैयापुरा, मकड़ौली कलां, मकड़ौली खुर्द, रोहतक, बोहर के आसपास है। अधिकारियों की मानें तो करीब 70 से अधिक कालोनी अवैध हैं। अवैध निर्माण को लेकर नगर निगम की टीम अभियान भी चला रही है। लोगों को हिदायत दी जा रही है कि अवैध कालोनियों में मकान का निर्माण न करें। इसके लिए संबंधित विभाग द्वारा अनेक जगहों पर पोस्टर भी चस्पा करवा दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...