पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Four Youths Were Pushing A Car That Ran Out Of Petrol To The Petrol Pump, The Canter Hit One From Behind, Crushed One, Died

रोहतक में कैंटर के रौंदने पर युवक की मौत:पेट्रोल खत्म होने पर यूपी के रहने वाले तीन लोग कार को मार रहे थे धक्का, पीछे से आए कैंटर ने कुचला और कार को भी 250 मीटर तक घसीटा

रोहतक2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अमरेश (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
अमरेश (फाइल फोटो)

हरियाणा के रोहतक जिले में बहुअकबरपुर इलाके के गांव गांव भाली आनंदपुर के पास रात 2:30 बजे पीछे से आए कैंटर ने ग्रेटर नोएडा निवासी युवक को बुरी तरह रौंद दिया। युवक की हादसे में मौत हो गई। हादसा उस समय हुआ जब शुगर मिल फ्लाईओवर पर कार का पेट्रोल खत्म हो गया और धक्का मारकर उसे पेट्रोल पंप तक लेकर जा रहे थे। कैंटर चालक मौके से फरार है और पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी है। गौतमबुद्ध नगर ग्रेटर नोएडा यूपी के कमल ने बहु अकबरपुर थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह पेशे से किसान है। 12‌ सितंबर को अपने जीजा अमरेश निवासी ग्रेटर नोएडा यूपी, उपेंद्र और मनोज निवासी सूरजपुर यूपी के साथ कार में रोहतक भैंस खरीदने के लिए आए थे। सौदा हो जाने के बाद जब भैंस खरीदकर गांव लौट रहे थे तो 12-13 सितंबर की मध्यरात्रि करीब 2:30 बजे भाली आनंदपुर शुगर मिल फ्लाईओवर के पास उनकी कार का पेट्रोल खत्म हो गया। पेट्रोल पंप तक ले जाने के लिए गाड़ी को धक्का लगा रहे थे। चालक साइड पीछे अमरेश था और दूसरी ओर भूपेंद्र और मनोज धक्का मार रहे थे। कमल खुद चालक सीट पर बैठा था।

अमरेश नीचे गिरा तो कैंटर ऊपर से गुजरा
कार को धक्का मारकर उन्होंने भाली पुल को क्रॉस किया और करीब डेढ किमी आगे निकल आए थे। यहां से पेट्रोल पंप नजदीक ही था। उसी दौरान पीछे से आए तेज रफ्तार कैंटर ने अमरेश वाली साइड में सीधी टक्कर मार दी। टक्कर लगने से अमरेश नीचे गिर गया और कैंटर उसके ऊपर से गुजरता हुआ कार को करीब 250 मीटर दूर तक घसीटता ले गया। 250 मीटर दूर जाने के बाद कार कैंटर से अलग हुई। चालक कैंटर लेकर मौके से फरार हो गया।
इलाज के दौरान पीजीआई में हुई मौत
हादसाग्रस्त कार की चालक सीट से नीचे उतर कर कमल मौके पर पहुंचा। उसने अपने जीजा अमरेश (27) खून से लथपथ घायल हालत में देखा और बाकी दोनों सुरक्षित थे। तीनों उसे आनन-फानन में राहगीरों की सहायता से पीजीआई रोहतक लेकर पहुंचे। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मृतक सात भाई बहनों में मंझला था और वह दो बच्चों का पिता था।

खबरें और भी हैं...