• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • In The Case Of Three And A Half Years Old, 'AAP' Leaders Will Appear In The City Police Station Today, Will Hold A Press Conference First

नवीन जयहिंद V/S पानीपत पुलिस:साढ़े 3 साल पुराने मामले में हजारों समर्थक लेकर ढोल-नगाड़ों संग गिरफ्तारी देने थाना पहुंचे 'आप' नेता

रोहतक8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी थाना में गिरफ्तारी देने जाते नवीन जयहिंद और उनके कार्याकर्ता, जीटी रोड पर डीजे की ताल पर हाथ में फरसा और त्रिशुल लेकर नाचते जयहिंद। - Dainik Bhaskar
सिटी थाना में गिरफ्तारी देने जाते नवीन जयहिंद और उनके कार्याकर्ता, जीटी रोड पर डीजे की ताल पर हाथ में फरसा और त्रिशुल लेकर नाचते जयहिंद।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके नवीन जयहिंद आज दोपहर करीब पौने 2 बजे पानीपत स्काई लार्क पहुंचे। यहां पहुंचने पर हजारों की संख्या में लोगों ने उनका फूल-मालाओं से स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने पत्रकारों को संबोधित किया। यहां से वे उन पर दर्ज साढ़े तीन साल पुराने मामले में कार्याकताओं के साथ ढोल-नगाड़ों, डीजे पर शिव के गानों के साथ झूमते-नाचते हुए स्काई लार्क से पैदल-पैदल डेढ किलोमीटर दूर सिटी थाना पहुंचे। जहां थाना प्रभारी सुनील कुमार ने सिर्फ उन्हीं पांच लोगों को मामले की जांच में शामिल होने की बात कही, जिन पर मुकदमा दर्ज है। मगर सभी लोग अड़ गए और कहा कि अगर इस मामले में गिरफ्तारी होगी, तो सभी की होगी, वरना किसी की भी नहीं होगी। आखिरकार किसी तरह लोगों को समझाया गया और इस वक्त थानाध्यक्ष के कार्यालय में नवीन जयहिंद समेत पांचों नामजद से पुलिस पूछताछ कर रही है।

अभी नवीन मरा नहीं है, जिंदा है, पुलिस जब चाहे जेल भेजे या जमानत दें

नवीन जयहिंद ने पत्रकार वार्ता में कहा कि नवीन मरा नहीं है, जिंदा है। वह तो यहां पर पेश होने आए हैं। पुलिस अब चाहे जेल भेजे या जमानत दे। उन्हें किसी की चिंता नहीं। उन्होंने यह भी कहा कि भोले के लिए वह एक हजार बार भी जेल जाने के लिए तैयार हैं। जो भोले बाबा को नहीं मानते उन्हें अफगानिस्तान भेज दो। वह कांवड़ लेकर हरिद्वार से आ रहे थे। नशे के विरोध में कांवड़ यात्रा निकाली थी। पुलिस ने उन पर गलत आरोप लगाए। उनकी गाड़ी को रोक लिया। पुलिस से विवाद के आरोप में केस दर्ज कर लिया। यह मामला निपट गया था लेकिन पुलिस ने परेशान करने के लिए समन भेज दिए।

सिटी थाना में गिरफ्तारी देने पहुंचे नवीन जयहिंद व अन्य कार्यकर्ता, थानाध्यक्ष सुनील कुमार से बातचीत करते हुए।
सिटी थाना में गिरफ्तारी देने पहुंचे नवीन जयहिंद व अन्य कार्यकर्ता, थानाध्यक्ष सुनील कुमार से बातचीत करते हुए।

फरसा, त्रिशलू, गदा लेकर थाने तक पहुंचे समर्थक

नवीन जयहिंद के समर्थक फरसा, त्रिशुल और गदा लेकर पहुंच गए। स्काइलार्क में उन्हें मिठाई खिलाई गई। भोले बाबा के जयकारे लगाए। नवीन जयहिंद ने कहा कि उनके ऊपर कई केस लगा रखे हैं। वह किसी से नहीं डरते। स्काई लार्क रेस्त्रां से सिटी थाना के बीच जीटी रोड पर कई बार खुद नवीन जयहिंद ने भी त्रिशुल और फरसा हाथों में लेकर डांस किया।

नवीन जयहिंद से सवाल और जवाब

सवाल: आप आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हैं या नहीं
जबाब: यह तो पार्टी से पूछ लो। हां या न, इस पर कुछ नहीं कह सकता।

सवाल: आपको गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही थी
जबाब: ये कैसी छापेमारी है। मैं तो रोहतक में खुलेआम था। कल ही चंडीगढ़ में था। मैं कोई चोर थोड़े ही हूं। सरकार पूरी जांच करा ले। हम तो एक नंबर के आदमी हैं।

सवाल: आप के साथ रहेंगे
जबाब: अपने समर्थकों की ओर इशारा करते हुए कहा, ये कौन आ रहे हैं। इस पर सभी हंसने लगे।

सवालों के जबाब देते नवीन जयहिंद।
सवालों के जबाब देते नवीन जयहिंद।

यह है मामला

नवीन जयहिंद ने साल 2018 में नशे के खिलाफ भाईचारा कांवड़ यात्रा निकाली थी। यह यात्रा रोहतक से हरिद्वार के लिए निकाली गई थी, जिसमें युवाओं ने भाग लिया था। यात्रा के समापन पर शिव मंदिर में जलाभिषेक करने के लिए आम आदमी पार्टी के समन्‍वयक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी रोहतक पहुंचे थे। इस यात्रा के दौरान पानीपत पुलिस ने गाड़ियों की जांच की। पुलिस ने इस संदेह पर तलाशी ली थी कि गाड़ियों में हथियार हो सकते हैं। लेकिन पुलिस को ऐसा कुछ नहीं मिला। गाड़ियों की जांच के बाद पुलिस ने आम आदमी पार्टी के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया था। इन लोगों को नवीन जयहिंद ने छुड़वा लिया था। इस दौरान जयहिंद और पुलिस के बीच खासा विवाद हुआ था। इसके बाद पुलिस ने दावा किया कि कांवड़ यात्रा के काफिले में शामिल गाड़ी का नंबर फर्जी है।

नवीन जयहिंद समेत 5 पर केस दर्ज

नवीन जयहिंद ने गाड़ी का नंबर ट्रांसफर करने समेत सभी दस्तावेज पानीपत के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक के समक्ष पेश भी कर दिए थे, लेकिन पानीपत पुलिस ने नवीन जयहिंद समेत पांच अन्यों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 186, 332, 353, 417,420, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया था। नवीन जयहिंद को इसी मामले में पेश होने के लिए कहा गया है। जयहिंद का दावा है कि उस समय पुलिस अधीक्षक ने इस मामले को रफा-दफा भी कर दिया था।

खबरें और भी हैं...