पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Kolhapur Model Power Plant Set Up, Will Generate Electricity From Wet Waste And Cow Dung, Process To Start Tendering In 15 Days

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सक्रिय हुआ नगर निगम:कोल्हापुर मॉडल का ऊर्जा संयंत्र लगा, गीला कूड़ा व गोबर से बनाएंगे बिजली, 15 दिन में टेंडर लगाने की शुरू होगी प्रक्रिया

रोहतकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मेयर मनमोहन गोयल की पहल पर नगर निगम ने तैयार किया प्रोजेक्ट

राजेश कौशल,

वर्षों से जारी कोशिशों के बावजूद शहर में डोर टू डोर सूखा-गीला कूड़ा अलग करवाने में अक्षम साबित हो रहे नगर निगम की तैयारी ऊर्जा संयंत्र लगाने की है। जहां पर महाराष्ट्र में कोल्हापुर की तर्ज पर गोबर व गीले कूड़े से बिजली तैयार की जाएगी। इस बाबत 15 दिन में ही टेंडर लगाकर एजेंसियों को आमंत्रित किया जाएगा। ताकि अतिशीघ्र ग्राउंड वर्क शुरू कराया जा सके। जरूरत पड़ने पर महम, कलानौर व सांपला के अलावा, बहादुरगढ़, झज्जर और भिवानी शहर का गीला कूड़ा प्रोसेसिंग के लिए रोहतक लाया जा सकता है।

एनजीटी की सख्ती के बाद सक्रिय हुआ नगर निगम

नगर निगम की ओर शहर में डोर टू डोर कूड़ा लिफ्टिंग कराया जा रहा है। शहरवासी घर से ही सूखा व गीला कूड़ा अलग करके वाहन में डालें, इसके लिए लगातार जागरूकता अभियान भी चलाए गए, लेकिन असफलता हाथ लग रही है। हर दिन मिला जुला कूड़ा भिवानी रोड पर ड्रेन नंबर-8 के किनारे स्थित सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट तक पहुंच रहा है। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के तय मानक और एनजीटी की ओर से सख्ती बरतने के बाद निगम प्रशासन सक्रिय हुआ है। सभी 22 वार्डों से सूखा-गीला कूड़ा अलग कर गीले कूड़े व गोबर से बिजली बनाने का प्रोजेक्ट का लेखा जोखा तैयार कर लिया है।

सूखा-गीला कूड़ा निस्तारण के अब तक ऐसे चले प्रयास

शहर से प्रतिदिन निकल रहा सूखा-गीला कचरा मिक्स होकर भिवानी रोड स्थित सॉलिड वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट में डाला जाता है। इसके लिए भिवानी रोड पर वर्ष 2007 में तत्कालीन सरकार के कार्यकाल में प्लांट लगाया गया था, लेकिन जिम्मेदारी लेने वाली कंपनी ने प्लांट चालू करने में 3 साल लगा दिए। बाद में कंपनी ने प्रोजेक्ट भी छोड़ दिया।

इसके बाद भाजपा सरकार ने नए सिरे से प्लांट को चालू कराया, लेकिन सफलता नहीं मिली। उल्टे प्लांट में आग लगने से कई मशीन व उपयोगी उपकरण जलकर नष्ट हो गए। लगभग तीन साल पहले नए सिरे से प्लांट चालू हुआ। डोर टू डोर कचरा एकत्रित करने वाली कंपनी को ही निगम ने प्लांट चलाने की जिम्मेदारी दी। प्लांट में कचरे से जैविक खाद भी बन रही है। फिर भी घरों से सूखा व गीला कूड़ा अलग होकर नहीं मिल रहा है। स्वच्छता सर्वेक्षण प्रतिस्पर्धा में रोहतक का प्रदर्शन दो बार से सुधार पर है, लेकिन शहर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए सबसे जरूरी कचरा प्रबंधन पर शहर की सरकार लगातार फिसड्डी साबित होती रही है।

गीले कूड़े का ऊर्जा संयंत्र स्मार्ट सिटी की दिशा में महत्वपूर्ण कदम

^कोल्हापुर मॉडल पर गीले कूड़े से बिजली पैदा करने वाले प्रोजेक्ट का प्रपोजल नगर निगम अधिकारियों से तैयार कराया गया है। इसके लिए रोहतक के अलावा कलानौर, महम और सांपला के अलावा जरूरत होने पर आसपास के जिलों भिवानी आदि शहर का भी गीला कूड़ा प्लांट तक लाया जाएगा। अतिशीघ्र इस प्रोजेक्ट का संचालन कराए जाने का प्रयास है। यह प्रोजेक्ट शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की ओर यह महत्वपूर्ण कदम होगा।
-मनमोहन गोयल, मेयर, नगर निगम।

15 दिन में प्रोजेक्ट का लगाएंगे टेंडर

गीले कूड़े का निस्तारण किए जाने को लेकर निकाय गंभीर है। 15 दिन के अंदर वायो गैस-गोबर गैस संयंत्र लगाने के लिए टेंडर लगाए जाएंगे। भिवानी रोड पर ड्रेन नबर-8 के किनारे 30 एकड़ में स्थित सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट परिसर में ही संबंधित एजेंसी को प्लांट लगाने की जमीन नगर निगम की ओर से उपलब्ध कराई जाएगी।
-प्रदीप गोदारा, कमिश्नर, नगर निगम।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें