पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

शिक्षा:फाइनल के परीक्षार्थियों को हॉस्टल देने का एमडीयू ने बदला फैसला, गृह मंत्रालय की गाइडलाइन का दिया हवाला

राेहतक8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले कर ली थी पूरी तैयारी, फैसला बदलने के विरोध में छात्र संगठन

फाइनल की परीक्षा देने के लिए बाहर से आने वाले स्टूडेंट्स के लिए हॉस्टल सुविधा देने के मामले में एमडीयू ने अपना फैसला अब पलट दिया है। अब पीजी की परीक्षाओं में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स को अब हॉस्टल की सुविधा नहीं दी जाएगी। इसे आगामी आदेशों तक टाल दिया गया है। असल कारण ये है कि विवि ने हॉस्टल देने की तैयारी पहले कर ली लेकिन इस बारे में जिला प्रशासन से गाइडलाइन का स्पष्टीकरण बाद में लिया।

ऐसे में मंगलवार को ऑफलाइन मोड से परीक्षा देने के लिए आने वाले स्टूडेंट्स में असमंजस की स्थिति बनी रही। इसमें सबसे बड़ी चूक विवि की ओर से स्टूडेंट्स को समय पर सुविधाओं के बारे में अवगत न करवाना है, जिसके चलते स्टूडेंट्स को परेशानी का सामना करना पड़ता है। अचानक स्टूडेंट्स को होने वाली परेशानी को लेकर छात्र संगठनों ने एक बार फिर से एमडीयू प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी कर ली है।

मीडिया में ये जारी किया था एमडीयू ने गाइडलाइन का बयान
एमडीयू ने 15 सितंबर से प्रारंभ होने वाले फाइनल/टर्मिनल सेमेस्टर की परीक्षाओं में एमडीयू के हॉस्टल्स में रहने वाले विद्यार्थियों के लिए गाइडलाइंस जारी की थी। डीन, एकेडमिक अफेयर्स प्रो. नीना सिंह ने बताया था कि हॉस्टल में रहने वाले हर विद्यार्थी को परीक्षा के दौरान हाॅस्टल में रहने के लिए अपने विभाग के अध्यक्ष/निदेशक के माध्यम से अपनी रिक्वेस्ट सब्मिट करवानी होगी। परीक्षा के लिए प्रत्येक हॉस्टलर को अंडरटेकिंग देनी होगी कि न तो वह और न ही उसके परिवार से कोई भी कोविड-19 से संक्रमित है। मेस भी नहीं चलेगा। वहीं अपने इस बयान पर अब नीना सिंह ने अपनी स्थिति स्पष्ट करने से इंकार कर दिया। उनका कहना है कि मैं इस बारे में कुछ नहीं कहना चाहती।

एनएसयूआई सड़कों पर उतरकर विरोध करेगी
एमडीयू प्रशासन फाइनल की परीक्षा को लेकर अपने विवेक से काम न लेकर सरकार की कठपुतली बनकर काम कर रहा है। हॉस्टल के लिए सुविधा नहीं दी तो एनएसयूआई सड़कों पर उतरकर विरोध करेगी और एमडीयू प्रशासन का पुतला भी फूंका जाएगा। - अमन वशिष्ठ, राज्य प्रवक्ता, एनएसयूआई।

विदेशी स्टूडेंट्स को हॉस्टल दिए तो अपनों को क्यों नहीं
पूरा विवि अयोग्य व्यक्तियों के हाथों में है। स्टूडेंट्स को दूरी से आने पर परेशानी होगी, इसलिए हॉस्टल की व्यवस्था की जानी चाहिए। विदेशी छात्रों में जब स्टूडेंट्स को रखा जा सकता है तो अपने देश के स्टूडेंट्स के लिए क्या आपत्ति है। - प्रदीप देशवाल, प्रदेशाध्यक्ष, एमडीयू।

अब गाइडलाइन का हवाला देकर किया मना : एबीवीपी
एमडीयू की ओर से पहले तो हॉस्टल अलाट कर दिए थे और बच्चे भी बुला लिए थे। अब ऊपर बात हुई तो कैंसिल कर दिए। गृहमंत्रालय की गाइडलाइन का हवाला दिया गया है। मंगलवार को कुलपति से इस बारे में मुलाकात भी की। उनकी ओर से बताया गया कि ऊपर से नोटिस आ गया है, हॉस्टल नहीं दिए जा सकते हैं। - सन्नी नारा, अध्यक्ष एमडीयू, एबीवीपी।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें