पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महापंचायत में चर्चा:मिशन एकता समिति ने दलित महापंचायत 30 को बुलाई, बोहर में अठगामा एससी समाज ने की बैठक

रोहतक2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राेहतक. प्रेसवार्ता के दाैरान पत्रकाराें काे संबाेधित करते कांता अालड़ियाॅ। - Dainik Bhaskar
राेहतक. प्रेसवार्ता के दाैरान पत्रकाराें काे संबाेधित करते कांता अालड़ियाॅ।
  • औघड़ पीर डेरे पर कब्जे व साधुओं के साथ मारपीट को लेकर मामले ने पकड़ा तूल

अस्थल बोहर स्थित औघड़ पीर डेरे पर जबरन कब्जे व साधुओं के साथ मारपीट के मामले ने तूल पकड़ लिया है। रविवार को पत्रकार वार्ता में कांता ने कहा कि इसे लेकर मिशन एकता समिति ने साधु संतों सहित दलित समाज की 30 मार्च को अम्बेडकर चौक पर महापंचायत आहुत की है।

समिति प्रदेश अध्यक्ष कांता आलडिया का आरोप है कि कुछ असमाजिक तत्वों ने डेरे पर जबरन कब्जा किया है और व डेरे की सम्पति को हड़पना चाहते है। यहां तक कि डेरे पर हुई मारपीट के मामले में 24 घंटे बीतने के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे साफ है कि यह सब सरकार के इशारे पर हो रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि जिस तरीके से प्रशासन ने धारा 145 के तहत डेरे को अपने कब्जे में लिया है, वह सरासर गलत है। सदियों से यह डेरा दलित समाज का रहा है और आगे भी रहेगा।

दूसरा पक्ष:पुलिस-प्रशासन ने कार्रवाई नहीं करेगा तो आंदोलन करेंगे

गांव बोहर के एससी समाज की चौपाल में अठगामा एससी समाज व सर्व अठगामा समाज की महत्वपूर्ण बैठक की गई। इसमें सर्वसम्मति से फैसला लिया गया कि बाबा जयनाथ ही डेरे की गद्दी के असल महंत हैं। जयनाथ को परम्परा के अनुसार समस्त अठगामा एससी समाज व सर्व समाज ने गद्दी नशीन किया है। इसका पूरा समाज उनका समर्थन करता है। सर्वसम्मति से यह भी फैसला हुआ कि उच्च स्तरीय जांच करके डेरे का पैसा वापस डेरे के अकाउंट में लाने का सहयोग करें।

कहा कि अगर पुलिस-प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं करती तो अठगामा सर्वजात पंचायत बड़ा आंदोलन करने को मजबूर हो जाएगी। इस अवसर पर कबीर ठेकेदार, फूल, हरकिशन, राम कुंवार, राजबीर वाल्मीकि, पप्पे वाल्मीकि, सुरज प्रकाश, कृष्ण, महताब, जगदीश, बिजेन्द्र, रमेश, रणबीर, खुशीराम व सुरेश आदि मौजूद रहे।

साधु संतों का अपमान सहन नहीं करेंगे

कांता आलडिया ने साफ कहा कि किसी कीमत पर साधु संतों का अपमान सहन नहीं होगा और 30 मार्च को इस संबंध में बड़ा फैसला लिया जाएगा। औघड़ पीर साधु संतों की समाधियां भी तोड़ी गई है और करीब एक साल से ज्यादा समय हो गया है, लेकिन पुलिस की ओर से अभी तक दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इसे दलित समाज किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगा। इस अवसर पर महंत रमेश नाथ, रामकुवार नाथ, महेन्द्र बांगडी, मनीषा बोहत, नवीन मेहरा, मंजीत मोखरा मौजूद रहे।

औघड़ पीर मठ मामले में दोनों पक्षों की ओर से शिकायत मिली है। इसमें एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए है। अभी मामले की जांच जारी है। जांच में जो सामने आएगा। इसी आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी। - गोरखपाल राणा, हेडक्वार्टर डीएसपी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें