पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:पीजीआई में दवाएं नहीं मिलने पर एमएस ने तलब की फाइल

रोहतक11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीजीआई में 1.60 करोड़ का बजट प्रस्तावित
  • कुछ राहत 200 प्रकार की दवाओं की खेप उपलब्ध कराई

पीजीआईएमएस में दवाओं के लिए साल में एक करोड़ 60 लाख रुपए का बजट प्रस्तावित है। फिर भी प्रदेश के विभिन्न जिलों और दूसरे राज्यों से आने वाले मरीजों को डॉक्टरों की ओर से लिखी गई दवाएं नहीं मिल पा रही हैं। मरीजों की पिछले कई दिनों से मिल रही शिकायतों की पड़ताल करने के बाद दैनिक भास्कर ने मंगलवार के अंक में इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया।

इसके बाद हरकत में आए पीजीआई प्रशासन के अधिकारियों ने सेंट्रल स्टोर के जिम्मेदारों से जवाब तलब किया। मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. पुष्पा दहिया ने स्टोर में दवाओं की उपलब्धता के बाबत फाइल तलब कर समीक्षा की। मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. पुष्पा ने आश्वासन दिया कि मरीजों को निशुल्क दवाएं उपलब्ध हों, इसके लिए प्लानिंग बनाकर समाधान कराने का पूरा प्रयास किया जाएगा।

इधर, मंगलवार को काउंटर पर मौजूद फार्मासिस्ट ने बताया कि सुबह सेंट्रल स्टोर से ब्लड प्रेशर, शुगर, किडनी इंफेक्शन, एंटीबायटिक, पेन किलर, एंटी एलर्जी, एंटी डायबिटिक, एंटी थायरायड, एंटी वायरल सहित करीब 200 प्रकार की दवाओं की खेप उपलब्ध करा दी गई। वर्तमान में पीजीआई की ओपीडी में औसतन साढ़े सात हजार मरीजों की ओपीडी हो रही है।

दवा काॅम्बिनेशन न मिलने से भी आती है दिक्कत

एंसेशिएल ड्रग लिस्ट में उपलब्ध दवाओं के कॉम्बिनेशन उपलब्ध न होने की वजह से फार्मासिस्ट मरीजों को वापस लौटा रहे हों।
-डॉ. गजेंद्र सिंह, जनसंपर्क अधिकारी, पीजीआईएमएस, रोहतक।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें