19 दिन बाद राहत की दो बातें:कोरोना से जिले में कोई मौत नहीं, 310 मरीजों ने कोरोना को हराया,2370 लोगों की जांच में 275 में संक्रमण मिला

रोहतकएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रोहतक के सुभाष रोड पर शनिवार को सेवा भारती संस्था के सदस्यों ने धुनी निकाली। संस्था की ओर से शहर के विभिन्न इलाकों में महामारी को लेकर वातावरण स्वच्छ रखने के लिए धुनी यात्रा निकाली जा रही है। शाम 5 से लेकर 7 बजे तक सिविल रोड, दुर्गा भवन मंदिर, सोनीपत स्टैंड, भिवानी स्टैंड, रेलवे रोड, झज्जर रोड आदि एरिया में हवन की धुनी दी गई। - Dainik Bhaskar
रोहतक के सुभाष रोड पर शनिवार को सेवा भारती संस्था के सदस्यों ने धुनी निकाली। संस्था की ओर से शहर के विभिन्न इलाकों में महामारी को लेकर वातावरण स्वच्छ रखने के लिए धुनी यात्रा निकाली जा रही है। शाम 5 से लेकर 7 बजे तक सिविल रोड, दुर्गा भवन मंदिर, सोनीपत स्टैंड, भिवानी स्टैंड, रेलवे रोड, झज्जर रोड आदि एरिया में हवन की धुनी दी गई।
  • जिले में होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की संख्या घटकर 1998 हुई, 19788 मरीज अब तक रिकवर हुए

कोरोना महामारी के बीच शनिवार को राहत की दो बड़ी खबरें सामने आई हैं। अप्रैल और मई में कोरोना का दंश झेल रहे रोहतक के लिए शनिवार खास बीता। सरकारी बुलेटिन के मुताबिक जिले में शनिवार को कोरोना से किसी ने जान नहीं गंवाई। ऐसा 19 दिन बाद हुआ है जब कोरोना से जिले में हमने किसी अपने को नहीं गंवाया।

दूसरी खबर भी कोरोना से मिली एक राहत से जुड़ी है। जिले में वायरस से रिकवर होने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है। शनिवार को ही जिले में 310 मरीज कोरोना से रिकवर हुए हैं। वहीं अब होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की संख्या भी घटी है। अब जिले में 1998 लोग ही होम आइसोलेशन में कोरोना से जंग जीतने में लगे हैं। अब तक जिले में 19788 लोग कोरोना को हरा चुके हैं।

इधर, शनिवार को 2370 सैंपल जांच में 275 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। शहरी एरिया में 145 और 130 मरीज ग्रामीण एरिया में मिले हैं। ग्रामीण एरिया में स्वास्थ्य विभाग की टीम सैंपलिंग बढ़ा दी है और बीमार ग्रामीणों का इलाज शुरू कर दिया है।

1255 लोगों की कोरोना रिपोर्ट का अब भी इंतजार: जिले में शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 3219 लोगों के सैंपल एकत्रित कर लैब में जांच के लिए भेजे। अधिकारी देर शाम तक 1255 लोगों की रिपोर्ट आने का इंतजार करते रहे। वर्तमान में जिले में कोविड पॉजिटिविटी दर 5.47 फीसदी और रिकवरी रेट 88.62 फीसदी दर्ज किया गया है। इधर, सरकारी अस्पतालों में मरीजों का लोड कम करने के लिए छह अलग-अलग स्थानों पर कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं। इन सेंटर्स में आने वाले मरीजों को प्रोटोकाल के तहत सुविधाएं उपलब्ध कराईं जा रही हैं।

जिले का रिकवरी रेट 88.62% पहुंचा, थोड़ी चिंता- पॉजिटिविटी दर अब भी 5.47% बनी

जिले में 17 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आ रही सप्लाई, 1170 सिलेंडर रीफिल किए गए

डीसी कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि जिले में अब पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की सप्लाई मिल रही है। शनिवार को जिले में 17 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध रही। जिले के सरकारी व निजी अस्पतालों की डिमांड पर 1170 सिलेंडर रीफिल कर उन्हें उपलब्ध कराए गए।

उन्होंने कहा कि सभी 13 निजी व सरकारी अस्पतालों में मांग के अनुसार एसेसमेंट करके निर्बाध सप्लाई उपलब्ध कराई जा रही है। औद्योगिक क्षेत्र में स्थित बाटलिंग प्लांट में तीन शिफ्ट में प्रशासनिक अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर 24 घंटे मॉनीटरिंग की जा रही है। प्लांट में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

कोरोना के कम लक्षण वाले मरीज अस्पताल जाने की बजाए 1950 पर कॉल कर लें डॉ. से परामर्श

जिले में कोरोना मरीजों को फोन पर ही चिकित्सकों की ओर से परामर्श दिया जाएगा। उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा टेलीमेडिसिन परामर्श सेवा शुरू की गई है, जो सोमवार से शनिवार तक उपलब्ध है। यह सेवा नियंत्रण कक्ष की हेल्पलाइन नंबर 1950 पर उपलब्ध है।

कोविड-19 मरीज इस नंबर पर कॉल करके सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक डॉक्टरों से परामर्श ले सकते हैं। जिला प्रशासन ने अपील की है कि कोरोना वायरस के कम लक्षण वाले मरीज अस्पताल में जाने की बजाय इस हेल्पलाइन सेवा के माध्यम से डॉक्टर से परामर्श लें।

खबरें और भी हैं...